close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सरकार के अपने आर्थिक सलाहकारों ने मानी अर्थव्यवस्था में भारी गड़बड़ी की बात: राहुल

राहुल गांधी की यह टिप्पणी नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार द्वारा गुरुवार को वर्तमान आर्थिक मंदी पर दिए गए बयान के बाद आई है.

सरकार के अपने आर्थिक सलाहकारों ने मानी अर्थव्यवस्था में भारी गड़बड़ी की बात: राहुल
राहुल गांधी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को सरकार पर निशाना साधा और कहा कि सरकार के अपने आर्थिक सलाहकारों ने आखिरकार स्वीकार किया कि भारत की अर्थव्यवस्था में एक 'गंभीर समस्या' है. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'सरकार के अपने आर्थिक सलाहकारों ने आखिरकार स्वीकार किया, जिसे लेकर हम लंबे समय से आगाह कर रहे थे- भारत की अर्थव्यवस्था में भारी गड़बड़ी है. अब हमारे समाधान को स्वीकार करें और अर्थव्यवस्था का मुद्रीकरण करें.'

राहुल गांधी की यह टिप्पणी नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार द्वारा गुरुवार को वर्तमान आर्थिक मंदी पर दिए गए बयान के बाद आई है. राजीव कुमार ने वर्तमान आर्थिक मंदी को अप्रत्याशित हालात बताया, जिसका भारत ने बीते 70 सालों में सामना नहीं किया है.

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने पिता व पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत राजीव गांधी को मतदान की आयु को 21 से घटाकर 18 करने के लिए याद किया. उन्होंने कहा कि यह भारत के युवाओं पर भरोसा जताने का स्पष्ट संदेश था. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'मतदान की आयु 21 साल से घटाकर 18 साल करने से राजीव गांधी ने पांच करोड़ नए मतदाताओं को जोड़ा. यह भारत के युवाओं में भरोसे का एक स्पष्ट संदेश था कि आप योग्य हैं और भारत आप में विश्वास करता है.'

यह टिप्पणी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा अपने पति के देश निर्माण में योगदान को याद करने के एक दिन बाद आई है. दिवंगत नेता की मंगलवार को 75वीं जयंती थी. राजीव गांधी की मई 1991 में तमिलनाडु के श्रीपेरम्बदूर में चुनाव प्रचार अभियान के दौरान हत्या कर दी गई थी.