ऑड-ईवन के दौरान तय करेंगे कि ओला, उबर किराये में बढ़ोतरी नहीं करें: परिवहन मंत्री गहलोत

समविषम योजना लागू होने के बाद टैक्सी सेवा प्रदाता कंपनी उबर ने कहा कि दिल्ली में अगले सप्ताह समविषम योजना लागू होने तक वह डायनैमिक या सर्ज प्राइजिंग नहीं लगाएगी.

ऑड-ईवन के दौरान तय करेंगे कि ओला, उबर किराये में बढ़ोतरी नहीं करें: परिवहन मंत्री गहलोत
सम-विषम ट्रैफिक योजना पर प्रेस वार्ता के दौरान दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत. (IANS/9 Nov, 2017)

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि समविषम कार योजना क्रियान्वयन के दौरान ऐप आधारित कैब आपरेटर ओला और उबर किराये में बढ़ोतरी नहीं करें. यह बात दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने गुरुवार (9 नवंबर) को कही. मंत्री गहलोत ने कहा कि उन्होंने मुद्दे पर चर्चा के लिए ओला और उबर के प्रतिनिधियों के साथ शुक्रवार (10 नवंबर) को एक बैठक बुलाई है. गहलोत ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ओला और उबर के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक बुलाई गई है. सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि समविषम योजना के दौरान किराये में कोई बढ़ोतरी नहीं हो.’’

यद्यपि समविषम योजना लागू होने के बाद टैक्सी सेवा प्रदाता कंपनी उबर ने कहा कि दिल्ली में अगले सप्ताह समविषम योजना लागू होने तक वह डायनैमिक या सर्ज प्राइजिंग नहीं लगाएगी. दिल्ली शहर में समविषम योजना 13 नवम्बर से पांच दिन के लिए लागू की जाएगी.

दिल्ली के सम-विषम योजना को ‘जीआरएपी’ कार्य बल का समर्थन नहीं 
दिल्ली में 13 नवंबर से सम-विषम योजना लागू करने के स्थानीय सरकार के फैसले को केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए उस कार्य बल का समर्थन हासिल नहीं है जो प्रदूषण की आपात स्थिति से निपटने के लिए ऐसे कदम सुझाता है. ‘ग्रेडेड रिसपॉन्स ऐक्शन प्लान’ (जीआरएपी) के तहत यह कार्य बल अतिरिक्त कदमों के बारे में सुझाव देता है.

कार्य बल ने उच्चतम न्यायालय द्वारा गठित ‘पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम एवं नियंत्रण) प्राधिकरण (ईपीसीए) को अपने रुख के बारे में बताया. ईपीसीए को जीआरपी के तहत कदम उठाने का अधिकार प्राप्त है. कार्यबल की बैठक के ब्यौरे के अनुसार यह कार्य बल फिलहाल की स्थिति में कोई आगे का कदम नहीं सुझा रहा है. इस कार्यबल ने कहा है कि प्रदूषण से जुड़े वर्तमान हालात शुक्रवार (10 नवंबर) को भी बने रह सकते हैं.