इराक में बंधक भारतीयों के जीवित या मृत होने का सबूत नहीं : सुषमा

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बीते जून में युद्ध प्रभावित इराक में बंधक बनाए गए 39 भारतीय नागरिकों के परिजन से आज यहां मिलने पर कहा कि इन भारतीय नागरिकों के ‘जीवित या मृत होने’ के कोई सबूत नहीं हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि सरकार उन्हें जीवित मानकर उनकी रिहाई के लिए प्रयास कर रही है।

नई दिल्ली : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बीते जून में युद्ध प्रभावित इराक में बंधक बनाए गए 39 भारतीय नागरिकों के परिजन से आज यहां मिलने पर कहा कि इन भारतीय नागरिकों के ‘जीवित या मृत होने’ के कोई सबूत नहीं हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि सरकार उन्हें जीवित मानकर उनकी रिहाई के लिए प्रयास कर रही है।

बंधक बनाए गए 39 भारतीयों के रिश्तेदारों के साथ बीते नौ महीनों में अपनी छठी मुलाकात के बाद सुषमा ने कहा कि उन्होंने पंजाब के इन परिवारों को बताया कि सरकार ने इन भारतीयों की रिहाई में मदद कर सकने वाले हर देश और हर व्यक्ति से बात की है।

सुषमा ने कहा, ‘हम जब भी मिलते हैं, हमने उन्हें सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों से अवगत कराया। जैसा कि मैंने पहले भी कहा कि इस बारे में कोई सबूत नहीं हैं कि उनकी मौत हो गई या वे जीवित हैं। लेकिन हम जो प्रयास कर रहे हैं, हमारे सूत्रों ने हमें बताया कि उनकी मौत नहीं हुई है।’

उन्होंने कहा, ‘और इस विश्वास के साथ उनकी रिहाई सुनिश्चित करने के लिए हम अपने प्रयास जारी रखे हुए हैं। आज भी मैंने पिछली मुलाकात के बाद सरकार द्वारा किये गये प्रयासों के बारे में बताया और वे संतुष्ट होकर लौटे।’