GST लागू : PM ने कहा यह देश का आर्थिक एकीकरण, भाषण की 5 बड़ी बातें

GST लागू : PM ने कहा यह देश का आर्थिक एकीकरण, भाषण की 5 बड़ी बातें
पीएम ने कहा - जीएसटी एक पारदर्शी और साफ-सुथरी प्रणाली है जो कालेधन और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाएगी और एक कार्य संस्कृति को आगे बढ़ाएगी.

नई दिल्ली. भारत की आजादी के बाद के सबसे बड़े कर सुधार वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) शुक्रवार आधी रात से लागू कर दिया गया. संसद के संयुक्त सत्र में इस ऐतिहासिक कर व्यवस्था को रात 12 बजे लॉन्च कर दिया गया. एक जुलाई से 'एक देश, एक कर' की व्यवस्था साकार हो गई. इस मौके पर संसद के संयुक्त सत्र को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पीएम नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संबोधित किया. एक नजर पीएम मोदी के भाषण की खास बातों पर....

1.जीएसटी सभी राजनीतिक दलों के साझा प्रयासों का परिणाम है.जीएसटी लंबे विचार-विमर्श का नतीजा, केंद्र सहित सभी राज्यों ने इस पर सालों साल बातचीत की. जीएसटी सहयोगात्मक संघवाद का एक उम्दा उदाहरण है.
2.जीएसटी भारत का आर्थिक एकीकरण है, यह ठीक उसी तरह है जैसा सरदार वल्ल्भभाई पटेल ने कई दशक पहले देश को एकजुट करने के लिए किया था.
3.जीएसटी लागू होने के साथ ही 31 राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश एक साथ जुड़ जाएंगे और टोल नाकाओं पर लंबी कतारें समाप्त हो जाएंगी. 
4.जीएसटी एक पारदर्शी और साफ-सुथरी प्रणाली है जो कालेधन और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाएगी और एक कार्य संस्कृति को आगे बढ़ाएगी.जीएसटी लागू होने से व्यापारियों का कर अधिकारियों के हाथों उत्पीड़न समाप्त होगा.                                                                           5.जीएसटी अपनाने को लेकर व्यापारियों की आशंकाओं पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 'आंखों को भी नए चश्मे के साथ तालमेल बिठाना पड़ता है जिसमें कुछ दिन लगते हैं.'