close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुजरात चुनाव: प्रचार के दौरान दलित नेता जिग्नेश मेवाणी पर हमला, बाल-बाल बचे

गुजरात विधानसभा चुनाव में मंगलवार को प्रचार के दौरान दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और निर्दलीय प्रत्याशी पर हमला हुआ है. 

गुजरात चुनाव: प्रचार के दौरान दलित नेता जिग्नेश मेवाणी पर हमला, बाल-बाल बचे
चुनाव प्रचार करते हुए दलित नेता जिग्नेश मेवानी. तस्वीर साभार: ट्विटर @JigneshMewani

नई दिल्ली: गुजरात विधानसभा चुनाव में मंगलवार को प्रचार के दौरान दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और निर्दलीय प्रत्याशी पर हमला हुआ है. गनीमत रही कि वे इस हमले में बाल-बाल बच गए. इस हमले में ठाकोर सेना का शख्स घायल हो गया है. जिग्नेश मेवाणी ने अपने आधिकारिक ट्विटर पेज पर ट्वीट किया, 'भाजपा और संघ को ये नहीं पता कि उनके हर हमले से मुझे भाजपा के खिलाफ लड़ने की और ताकत मिलती जा रही है. संघियों कान खोलकर सुन लो, यह बापू का गुजरात है. मेरे ऊपर हुए हर एक हमले के साथ तुम्हारी हार और बड़ी होती जाएगी.'

जिग्नेश मेवाणी पर जब यह हमला हुआ उस वक्त वह बनासकांठा जिले के पालनपुर के तकरवाडा गांव में चुनाव प्रचार के लिए जा रहे थे. पुलिस ने मामले में शिकायत दर्ज कर आरोपी लोगों की तलाश में जुट गई है. 

दलित गर्व जुलूस से फेमस हुए थे जिग्नेश 
युवा दलित नेता मेवानी अहमदाबाद से उना के लिए दलित गर्व जुलूस निकालने के बाद सुर्खियों में आए थे. उन्होंने दलित जुलूस के जरिए बीते साल गोरक्षकों द्वारा सौराष्ट्र क्षेत्र में दलित चर्मकारों पर हुई ज्यादती का विरोध किया था. पहले उन्होंने किसी भी राजनीतिक दल में शामिल होने या चुनाव लड़ने की इच्छा नहीं जताई थी. उन्होंने कांग्रेस के राहुल गांधी से मुलाकात की थी और उनकी पार्टी को समर्थन जताया था. 

दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने बीते 27 नवंबर को कहा था कि वह गुजरात विधानसभा चुनावों में बनासकांठा जिले के वडगाम निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में लड़ेंगे. राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच नेता, सामाजिक कार्यकर्ता व वकील ने अपने ट्विटर हैडल से इसकी घोषणा की थी. इससे करीब घंटे भर पहले कांग्रेस अपने 76 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी कर चुकी थी. इसमें मेवानी को वडगाम से टिकट नहीं मिला था.

निर्दलीय प्रत्याशी जिग्नेश को है कांग्रेस का समर्थन
इससे पहले मेवानी ने चुनाव लड़ने में रुचि नहीं दिखाई थी और कांग्रेस के प्रति समर्थन दिखाया था. मेवानी ने यह घोषणा कांग्रेस की ओर से गुजरात विधानसभा चुनावों के लिए दूसरे चरण के लिए तीसरी सूची जारी के बाद की थी. मेवानी ने एक ट्वीट में कहा था, "दोस्तों, मैं गुजरात के बनासकांठा जिले के वडगाम-11 सीट से एक निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लड़ रहा है. हम लड़ेंगे, हम जीतेंगे."

कांग्रेस ने अपनी तीसरी सूची में वडगाम निर्वाचन क्षेत्र से किसी को भी टिकट नहीं दिया, इस सीट पर चुनाव 14 दिसंबर को होना है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मेवानी को बधाई दी थी और युवा कार्यकर्ता को अपनी शुभकामनाएं दीं थी.