गुजरात : सीएम रुपाणी ने दिया इस्तीफा, सभी की नजरें विधायक दल की बैठक पर

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने अपने मंत्रिमंडल के साथ गुरुवार को इस्तीफा दे दिया. एक दिन पहले राज्यपाल ओ पी कोहली ने विधानसभा भंग करते हुए नई सरकार के गठन का मार्ग प्रशस्त कर दिया था. उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और अन्य मंत्रियों के साथ रुपाणी गांधीनगर में राजभवन गए और राज्यपाल को अपने इस्तीफे पत्र सौंपे. बहरहाल, नई सरकार के गठन तक रुपाणी कार्यवाहक मुख्यमंत्री बने रहेंगे.

गुजरात : सीएम रुपाणी ने दिया इस्तीफा, सभी की नजरें विधायक दल की बैठक पर
उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और अन्य मंत्रियों के साथ रुपाणी गांधीनगर में राजभवन गए और राज्यपाल को अपने इस्तीफे पत्र सौंपे. (फोटो साभार : ANI)

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने अपने मंत्रिमंडल के साथ गुरुवार को इस्तीफा दे दिया. एक दिन पहले राज्यपाल ओ पी कोहली ने विधानसभा भंग करते हुए नई सरकार के गठन का मार्ग प्रशस्त कर दिया था. उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और अन्य मंत्रियों के साथ रुपाणी गांधीनगर में राजभवन गए और राज्यपाल को अपने इस्तीफे पत्र सौंपे. बहरहाल, नई सरकार के गठन तक रुपाणी कार्यवाहक मुख्यमंत्री बने रहेंगे.

पटेल ने राजभवन के बाहर संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और उनके पूरे मंत्रिमंडल ने राज्यपाल ओ पी कोहली को अपने इस्तीफे दिए जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया.’’ इस बीच, पटेल ने कहा कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जीतू वघानी जल्द ही नव निर्वाचित भाजपा विधायकों की बैठक बुलाएंगे जिसमें अगले मुख्यमंत्री का चयन किया जाएगा. बहरहाल, उन्होंने यह नहीं बताया कि बैठक कब बुलाई जाएगी और अगली सरकार का गठन कब होगा. उन्होंने कहा कि अगले मुख्यमंत्री का चयन करने की पूरी प्रक्रिया वित्त मंत्री अरुण जेटली और भाजपा महासचिव सरोज पांडे की देखरेख में की जाएगी जिन्हें केंद्रीय नेतृत्व ने पर्यवेक्षक नियुक्त किया है.

पटेल ने कहा, ‘‘चूंकि संसद सत्र चल रहा है तो पार्टी (नेतृत्व) एक या दो दिन में हमें सूचित करेगा कि अरुण जेटली जी और सरोज पांडे जी यहां कब आएंगे. उनकी मौजूदगी में विधायक नए मुख्यमंत्री के बारे में फैसला लेंगे.’’ अगले मुख्यमंत्री को लेकर चल रही अटकलों के बीच नरम व्यवहार वाले रुपाणी दौड़ में सबसे आगे चल रहे है और वह फिर से मुख्यमंत्री बन सकते हैं.

भाजपा में सूत्रों ने बताया कि पार्टी रुपाणी का चुनाव कर सकती है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने चुनाव अभियान के दौरान कहा था कि पार्टी रुपाणी और नितिन पटेल के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है. सूत्रों ने बताया कि मामूली अंतर से भाजपा की जीत के बाद केंद्रीय नेतृत्व मुख्यमंत्री बदलने पर भी विचार कर सकता है. मुख्यमंत्री पद के लिए रुपाणी के अलावा जिन लोगों का नाम चल रहा है उनमें नितिन पटेल और गुजरात से राज्यसभा सदस्य मनसुख मंडाविया शामिल हैं. मंडाविया पाटीदार समुदाय से ताल्लुक रखते हैं.

इससे पहले, रुपाणी ने कहा था कि पार्टी का संसदीय बोर्ड अंतिम फैसला लेगा. सूत्रों ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन के दिन 25 दिसंबर को नए मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है.