गुजरात : प्रेमी जोड़े की शादी में मदद करने वाले दलित युवक की हत्या

मृतक की पहचान किरण परमार के रूप में की गई है, जो सूरत के एक होटल में काम करता था. पुलिस ने बीती 15 अगस्त को हुई इस हत्या के मामले में अब तक कई आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

गुजरात : प्रेमी जोड़े की शादी में मदद करने वाले दलित युवक की हत्या
पुलिस के मुताबिक जिन लोगों ने किरण को पीट-पीटकर मारा है वो उसी के समुदाय के है. (प्रतीकात्मक फोटो)

अहमदाबाद : बनासकांठा में एक प्रेमी जोड़े की मदद करने के आरोप में एक दलित युवक की हत्या का मामला सामने आया है. दलित युवक ने प्रेमी जोड़े की शादी करवाने में मदद की थी. जिससे युवती के परिवार वाले खासे नाराज हो गए. मृतक की पहचान किरण परमार के रूप में की गई है, जो सूरत के एक होटल में काम करता था. घटना के वक्त किरण मेले से लौट रहा था.पुलिस ने बीती 15 अगस्त को हुई इस हत्या के मामले में अब तक कई आरोपियों को गिरफ्तार किया है. बनासकांठा पुलिस ने बताया कि हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है. 

किरण की बहन ने प्रेमी जोड़े को खतरे की आशंका जताई

वहीं किरण परमार के बहन आशा परमार ने बताया कि मेरे भाई की हत्या कर दी गई. अब हम उसे कभी नहीं देख पाएंगे। अब चिंता है कि जिस दोनों प्रेमी युगल मिल जाएंगे कहीं उनकी भी हत्या ना कर दी जाए. वहीं घर छोड़कर शादी करने वाली युवती की मां ने बताया कि वो अब दोबारा अपनी बेटी को नहीं देखना चाहती है। उसने हमें अपमानित किया है. वो हमारे लिए मर चुकी है अब.

घर छोड़कर भागने वाले लड़के तलाश जारी

बानासकांठा के एसपी नीरज ने बताया कि घर छोड़कर भागने वाले युवक कनु परमार (17 साल, बदला हुआ नाम) की तलाश की जा रही है. वहीं पालनपुर के डिप्टी एसपी (एस/एससी सेल) हेतल पटेल ने बताया कि पूरे मामले में जांच की जा रही है. उन्होंने आगे बताया कि जिन लोगों ने किरण को पीट-पीटकर मारा है वो उसी के समुदाय के है. 

प्रेमी जोड़े के गांव के ही हैं आरोपी

पुलिस ने जिन आरोपियों को अरेस्ट किया है उनमें रमेश कुमार, तलशी परमार, बाबू परमार, ईश्वर परमार, अशोक परमार, रमेश परमार, वीरा परमार, रमेश धर्मा परमार है. सभी आरोपियों वारदिया गांव के ही हैं, इसी गांव से प्रेमी जोड़ ने भागकर शादी की थी. गौरतलब है कि कनू परमार और युवती दोनों ही वारदिया गांव के ही रहने वालें हैं.