close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हेलमेट पहनकर उतारी गणेश जी की आरती, ट्रैफिक नियमों का पालन करने का दिया संदेश

नए नियमों के अनुसार ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर वाहन चालकों से कई गुना ज्यादा जुर्माना वसूल करने का प्रावधान है.

हेलमेट पहनकर उतारी गणेश जी की आरती, ट्रैफिक नियमों का पालन करने का दिया संदेश
ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर वाहन चालकों से कई गुना ज्यादा जुर्माना वसूल करने का प्रावधान है.

सूरत: देश के साथ-साथ आज गुजरात में भी बड़ी धूमधाम से गणेश विसर्जन किया जा रहा है. राज्य में हर जगह गणेश भक्त गणपति बप्पा की प्रतिमाएं विराजितकर पूजा-पाठ कर रहे थे. इसी बीच सूरत में भी आज मूर्ति विसर्जन से पहले भक्तों ने गणपति की हेलमेट पहनकर आरती उतारी.

सूरत का वेसुना नंदनी वन गणेश मंडल भी पीछे नहीं रहा है. इस मंडल के लोगों ने इसकी अहमियत समझाने के लिए अनोखे तरीके का साथ लिया है. मंडल में करीबन 50 लोगों ने मिल कर हेलमेट पहनकर गणेशजी की आरती उतारी और लोगों को इसकी अहमियत समझाने की कोशिश की है. लोगों को संदेश देने का यह बेहद अनोखा तरीका है और लोगों से इसका पॉजिटिव रिस्पॉन्स मिलता दिख रहा है.

दरअसल, देश में मोटर-व्हीकल का नया कानून लागू हो गया है. जहां कई राज्य इस कानून को अपना रहे हैं तो वहीं कई राज्यों में इन नियमों का लागू होना अभी बाकी है. लोग नए मोटर-व्हीकल एक्ट को अच्छे -बुरे दोनों नजरिये से देख रहे हैं. कइयों को जुर्माना बहुत ज्यादा लग रहा है तो वही कइयों को ये नियम पालन करवाने का अच्छा तरीका मान रहे हैं. लोगों का मानना है कि यह कोई टैक्स नहीं है जो तुम्हें भरना है. ये दंड है जो कानून का उल्लंघन करने पर चुकाना पड़ता है. इससे सरकार का कोई फायदा नहीं है बल्कि पब्लिक का ही फायदा है.  

अगर आप हेलमेट पहनते हैं तो हादसे के दौरान आपकी जान बच सकती है, जिसे आपको बारीकी से समझना चाहिए और अपनी जान से खिलवाड़ नहीं करना चाहिए. दंड पहले भी था मगर वो इतना कम था कि लोगों को उसका डर नहीं था. आज जब सरकार ने ये निर्णय लिए हैं तो लोगों के हित में ही लिया है. इसे लोगों को समझना होगा. कई सामाजिक कार्यकर्ता और एनजीओ इसको लेकर कई बार सवाल उठा रहे हैं.

ज्ञात हो कि नए नियमों के अनुसार ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर वाहन चालकों से कई गुना ज्यादा जुर्माना वसूल करने का प्रावधान है. अगर कोई नाबालिग वाहन चलाते समय पकड़ा गया तो 25 हजार रुपये का जुर्माना और गाड़ी मालिक को तीन साल तक की सजा होगी. साथ ही उस वाहन का रजिस्ट्रेशन भी रद्द कर दिया जाएगा. पहले नाबालिग के वाहन चलाने पर कोई जुर्माना नहीं था.

इसके अलावा इमरजेंसी वाहन को रास्ता न देने पर भी अब तक कोई जुर्माना नहीं था, लेकिन ऐसे वाहन को रास्ता न देने पर अब 10 हजार रुपए का जुर्माना भरना होगा. गाड़ी चलाते समय मोबाइल से बातचीत करने पर जुर्माना एक हजार रुपये से बढ़ाकर पांच हजार रुपये कर दिया गया है.