हार्दिक पटेल को न्यायिक हिरासत में भेजा गया

एक स्थानीय अदालत ने मंगलवार को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को साबरमती सेंट्रल जेल भेज दिया क्योंकि पुलिस ने उनकी और हिरासत नहीं मांगी।

अहमदाबाद : एक स्थानीय अदालत ने मंगलवार को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को साबरमती सेंट्रल जेल भेज दिया क्योंकि पुलिस ने उनकी और हिरासत नहीं मांगी।

अपराध शाखा ने हार्दिक की दो दिन की हिरासत खत्म होने के बाद उन्हें आज शाम अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट बीएल चोइथानी के सामने पेश किया गया।

जब मजिस्ट्रेट ने हार्दिक से पूछा कि क्या उन्हें पुलिस से कोई शिकायत है, उन्होंने इससे इंकार कर दिया।

हालांकि पटेल नेता ने अदालत से कहा कि उनसे पिछले तीन दिन में एक भी सवाल नहीं पूछा गया और हिरासत के दौरान उन्हें एक ही जगह बैठाए रखा गया।

हार्दिक ने अदालत से कहा, ‘‘मुझे पुलिस के खिलाफ कोई शिकायत नहीं है। लेकिन, मुझे कहना है कि पुलिस ने इन तीन दिनों में एक भी सवाल नहीं पूछा और मुझे एक जगह बैठाए रखा। मेरा विनम्र निवेदन है कि राजनीति को न्यायपालिका से अलग रखा जाना चाहिए।’’ अपराध शाखा द्वारा उनकी और हिरासत नहीं मांगने पर, मजिस्ट्रेट ने हार्दिक को न्यायिक हिरासत में भेजा। इसके बाद पुलिस उन्हें यहां साबरमती सेंट्रल जेल ले गई।