हार्दिक पटेल अभी भी हिरासत में, गुजरात में कुछ स्थानों पर प्रदर्शन

भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच राजकोट में होने वाले एक दिवसीय क्रिकेट मैच से पहले जिला पुलिस ने पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को रविवार को हिरासत में लिया। पटेल ने मैच बाधित करने की धमकी दी थी। देर रात तक हार्दिक को रिहा नहीं किया गया था। हार्दिक को हिरासत में लिए जाने के कारण गुजरात में कुछ स्थानों पर छिटपुट प्रदर्शन हुए। मोर्बी जिले में राज्य परिवहन निगम की एक बस को आग के हवाले कर दिया गया। सूरत से गुजरने वाली राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या आठ को समुदाय के नेताओं ने अवरूद्ध कर दिया।

हार्दिक पटेल अभी भी हिरासत में, गुजरात में कुछ स्थानों पर प्रदर्शन

राजकोट : भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच राजकोट में होने वाले एक दिवसीय क्रिकेट मैच से पहले जिला पुलिस ने पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को रविवार को हिरासत में लिया। पटेल ने मैच बाधित करने की धमकी दी थी। देर रात तक हार्दिक को रिहा नहीं किया गया था। हार्दिक को हिरासत में लिए जाने के कारण गुजरात में कुछ स्थानों पर छिटपुट प्रदर्शन हुए। मोर्बी जिले में राज्य परिवहन निगम की एक बस को आग के हवाले कर दिया गया। सूरत से गुजरने वाली राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या आठ को समुदाय के नेताओं ने अवरूद्ध कर दिया।

उधर, राजकोट जिले के पुलिस अधीक्षक गगनदीप गम्भीर ने कहा कि पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक प्टेल के खिलाफ पुलिस तिरंगे का ‘अपमान’ करने के सिलसिले में मामला दर्ज करेगी। गंभीर के अनुसार, रविवार दोपहर राजकोट के मधापर में जब पुलिस ने हार्दिक को रोका तो, उस दौरान मीडिया से बातचीत करने के लिए वह कार पर चढ़ने का प्रयास कर रहे थे और इसी दौरान उनका पैर तिरंगे से लगा।

हार्दिक और उनके चार करीबी सहयोगियों को पुलिस ने दोपहर करीब एक बजकर चालीस मिनट पर स्टेडियम के पास मधापर से गिरफ्तार किया। राजकोट (देहात) के पुलिस अधीक्षक गगनदीप गंभीर उन्हें शहर के बाहर घंटेश्वर इलाके में स्थित एसआरपी मुख्यालय ले गए। उससे कुछ ही पल पहले हार्दिक पे मीडिया से कहा था, वह सिर्फ दर्शक की तरह मैच देखना चाहते थे। पुलिस अधीक्षक गंभीर ने यह बात नहीं सुनी। गंभीर ने कहा कि मैं विश्वास नहीं कर सकता कि हार्दिक मैच के दौरान शांति से बैठेंगे और कुछ नहीं करेंगे। उन्होंने पहले ही विभिन्न तरीकों से मैच बाधित करने की धमकी दी है। हमें पूरा यकीन है कि यदि उन्हें स्टेडियम में जाने दिया गया होता तो वह कुछ गड़बड़ जरूर करते। इसलिए हमने उन्हें हिरासत में लिया है। गंभीर ने यह भी कहा कि पुलिस हार्दिक के खिलाफ तिरंगे के अपमान के संबंध में प्राथमिकी दर्ज करेगी। अधिकारी के अनुसार, हार्दिक का पैर तिरंगे से लगा था।

इस बीच, भरूच में मौजूद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल ने आज पटेल समुदाय सहित आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए आरक्षण का समर्थन किया। दूसरी ओर पटेल आंदोलन के विरोध में आंदोलन चला रहे ओबीसी नेता अल्पेश ठाकुर ने सरकार को अल्टीमेटम दिया है कि 15 दिनों में पटेल आंदोलन समाप्त नहीं होने पर वे जेल-भरो आंदोलन शुरू करेंगे।