close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुजरात: कैटरपिलर ने किया अरवल्ली में लोगों को घर छोड़ने पर मजबूर, ग्रामीण हुए परेशान

 इन कैटरपिल्लरस की वजह से सहकारी मण्डली अपना दफ्तर भी नहीं खोल पा रही है तो वहीं बैंकों के खाताधारक और बैंक के कर्मचारियों का काम भी अटका हुआ है.

गुजरात: कैटरपिलर ने किया अरवल्ली में लोगों को घर छोड़ने पर मजबूर, ग्रामीण हुए परेशान
मोटी मोरी गांव के 250 घरों के 1500 लोग पलायन करने पर मजबूर हो गए है. (फाइल फोटो)

अरवल्ली: गुजरात के अरवल्ली के मेघराज तालुका के वात्रक नदी के पास स्थित मोटी मोरी गांव के 250 घरों के 1500 लोग पलायन करने पर मजबूर हो गए है. गांव के लोगों को पलायन करने के लिए कोई और नहीं बल्कि 2 इंच के कैटरपिल्लर (इल्ली) ने मजबूर कर दिया है.

दरअसल पहली बारिश में एक साथ कैटरपिलर के इतनी ज्यादा मात्रा में आ गए हैं कि घरों की, दफ्तरों की, स्कूलों की और बैंको के समेत पूरे गांव की दीवार, छत हो, आंगन हो या रस्ते और जमीं क्यों न हो सब पर इन दो इंच के कैटरपिल्लर ने अपना कब्ज़ा जमा लिया है. लोग अपने घरों को 24 घंटा बंद रखे तो भी इन से बचा नहीं जा सकता है. 

दफ्तर, स्कूलों और बैंको जैसी जगहों पर तो लोगों को इन कैटरपिल्लरस की वजह से भारी मुश्किलों का सम्मना करना पड़ रहा है. कैटरपिल्लर्स की वजह से बारिश के मौसम में सहकारी मण्डली में आने वाले किसान भी परेशान है क्योंकि इन कैटरपिल्लरस की वजह से सहकारी मण्डली अपना दफ्तर भी नहीं खोल पा रही है तो वहीं बैंकों के खाताधारक और बैंक के कर्मचारियों का काम भी अटका हुआ है.

इन कैटेरपिल्लर्स के आतंक से गांव वालों को जल्दी सुबह उठ कर कोई और काम करने से पहले इन कैटेरपिल्लर्स से निपटारा पाना पड़ता है और इन्हे बिन-बिन कर निकालना पड़ता है जिससे वे अब कंटाल गए है और पलायन करने पर मजबूर होगए है. ग्रामीण प्रशासन से इन कैटेरपिल्लर्स ने निजात दिलाने की गुहार लगा रहे है.