close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अहमदाबाद से फिर हुआ पुलिसकर्मियों का TIK TOK वीडियो वायरल, जांच में जुटे अधिकारी

जांच प्रतिनिधि को ये जानकारी मिली है कि पुलिस कर्मियों पर होने वाली कार्रवाई के बाद टिक टॉक बनाने वाले अन्य पुलिसकर्मी टिक टॉक अकाउंट से वीडियो या तो हटा रहे हैं या अकाउंट ब्लॉक कर रहे है. 

अहमदाबाद से फिर हुआ पुलिसकर्मियों का TIK TOK वीडियो वायरल, जांच में जुटे अधिकारी

अहमदाबाद: देशभर के युवाओं में टिक टॉक एप पर तरह-तरह के वीडियो बनाकर अपलोड करने का नशा बढ़ते ही जा रहा है. कई वेब एक्सपर्ट ने यह चेतावनी भी जारी की है कि टिक टॉक और लाइक जैसे एप के माध्यम से पर्सनल डेटा का भी गलत इस्तेमाल हो सकता है. वहीं सरकार ने भी ऐसे एप को देश विरोधी कंटेंट डाले जाने की वजह से बेन करने तक की बात कही. लेकिन युवाओं में इस अपील का कोई फर्क पड़ता नजर नहीं आ रहा है. 

गुजरात में पुलिसकर्मियों के टिक टॉक वीडियों सामने आने के बाद राज्य के डीजीपी शिवानंद झा ने सभी पुलिसकर्मियों को हिदायत देते हुए एक सर्कुलर जारी किया था, जिसमें साफ निर्देश दिए गए थे कि पुलिस महकमे के कर्मचारी इस बात का ध्यान रखे कि सोशल मीडिया पर ऐसी कोई पोस्ट नहीं करें. लेकिन इसके बाद भी किसी कर्मचारी को कोई फर्क नहीं पड़ रहा है. 

मेहसाणा के बाद अब अहमदाबाद से एक वीडियो वायरल हो रहा है. अहमदाबाद थाने के पांच पुलिसकर्मी एक साथ वर्दी में वीडियो बनाया है. इस वीडियो के बैकग्राउंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आवाज का इस्तेमाल कर दिया. वीडियो के सामने आने के बाद पुलिस प्रशासन जांच कमिटी द्वारा कार्रवाई की बात कर रहा है. 

लाइव टीवी देखें

वहीं, जांच प्रतिनिधि को ये जानकारी मिली है कि पुलिस कर्मियों पर होने वाली कार्रवाई के बाद टिक टॉक बनाने वाले अन्य पुलिसकर्मी टिक टॉक अकाउंट से वीडियो या तो हटा रहे हैं या अकाउंट ब्लॉक कर रहे है. पुलिसकर्मियों को डर सता रहा है कि कहीं उन पर कोई कार्रवाई न हो जाए.