आंखों के आपरेशन में गड़बड़ी : केंद्र ने पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी

केंद्र सरकार ने एक एनजीओ द्वारा आयोजित नेत्र शिविर में करीब 60 लोगों की आंखों की रोशनी चले जाने के मामले में शुक्रवार को पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी है। गुरदासपुर में घटी इस त्रासदी की पंजाब सरकार ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।

नई दिल्ली/चंडीगढ़ : केंद्र सरकार ने एक एनजीओ द्वारा आयोजित नेत्र शिविर में करीब 60 लोगों की आंखों की रोशनी चले जाने के मामले में शुक्रवार को पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी है। गुरदासपुर में घटी इस त्रासदी की पंजाब सरकार ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।

स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं को बताया, ‘हमने पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी है क्योंकि हमें बताया गया है कि ये आपरेशन किसी एनजीओ द्वारा करवाए गए और उसके पास इसके लिए राज्य सरकार की मंजूरी नहीं थी। हम इसकी विस्तृत जानकारी हासिल कर रहे हैं।’ उन्होंने बताया कि राज्य सरकार यदि मदद मांगती है तो केंद्र सरकार इस मामले में राज्य सरकार की मदद करने को तैयार है।

अमृतसर से मिली रिपोर्टों में कल बताया गया था कि 60 साल की उम्र से अधिक के कम से कम 60 लोगों ने करीब दस दिन पहले गुरदासपुर के घुमान गांव में आयोजित शिविर में अपनी आंखों का आपरेशन करवाया था और इन सभी की आंखों की रोशनी चली गयी। इन सभी की माली हालत अच्छी नहीं है। इनमें से 16 अमृतसर के गांवों से ताल्लुक रखते हैं जबकि बाकी गुरदासपुर जिले से हैं।

इस बीच, पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने आज इस त्रासदी की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। बादल ने स्वास्थ्य विभाग के मुख्य सचिव विन्नी महाजन से इस दुर्भाग्यपूर्ण हादसे के सभी पहलुओं की निजी तौर पर जांच करने को कहा है। चंडीगढ़ में एक सरकारी प्रवक्ता ने यह जानकारी दी।

उन्होंने महाजन को मौका ए वारदात का जायजा लेने तथा पीड़ितों और उनके परिजनों के लिए राहत कार्य की निगरानी एवं उसमें तेजी लाने के लिए शिविर का दौरा करने का भी निर्देश दिया है।