पेशेंट की बॉडी से 14 किलो का ट्यूमर निकाल डॉक्टर्स ने रचा इतिहास, दुनिया का पहला केस
X

पेशेंट की बॉडी से 14 किलो का ट्यूमर निकाल डॉक्टर्स ने रचा इतिहास, दुनिया का पहला केस

फोर्टिस हॉस्पिटल के डॉक्टर्स की टीम ने मिलकर आज इतिहास रच दिया है. उन्होंने एक पेशेंट के शरीर से 14 किलो का ट्यूमर बाहर निकाला है. अपने आप ये दुनिया का पहला मामला है.

पेशेंट की बॉडी से 14 किलो का ट्यूमर निकाल डॉक्टर्स ने रचा इतिहास, दुनिया का पहला केस

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में डॉक्टर्स की एक टीम ने मिलकर एक ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसकी कल्पना करना भी शायद मुश्किल था. फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट (Fortis) में सीटीवीएस के हेड और संचालक डॉक्टर उद्गीथ धीर ने अपनी टीम के साथ मिलकर 25 वर्षीय पेशेंट दिवेश शर्मा के शरीर में से 14 किलो का ट्यूमर (Tumor) सफलतापूर्वक निकाल कर इतिहास रच दिया है.

8 घंटे तक चला ऑपरेशन

डॉक्टर उद्गीथ धीर ने बताया कि उनके लिए यह एक बहुत बड़ी चुनौती थी, क्योंकि इसके पहले उन्होंने 9 किलो से बड़ा ट्यूमर न तो कभी देखा था और न ही उसके बारे में सुना था. उनके मुताबिक़, उन्होंने जितनी भी किताबों में जितने भी तरीकों के इलाज के बारे में पढ़ा था, वो सब वे दिवेश पर कर चुके थे. लगभग 50 दिनों के इलाज और करीब 8 घंटों की सर्जरी के बाद दिवेश के शरीर से ट्यूमर निकाला जा सका.

ये भी पढ़ें:- एक कॉल पर घर पहुंचेगा 20 हजार रुपये तक कैश, SBI दे रहा सुविधा

कैंसर के इलाज की दुनिया में ब्रेकथ्रू

डॉक्टर ने बताया कि दिवेश के इलाज के समय उनके साथ-साथ उनके परिवार वालों ने भी बिल्कुल हार नहीं मानी और हर कदम पर उनका साथ दिया. धैर्य, दृढ़ता और आत्मविश्वास के बल पर ही वे इस नामुमकिन लगने वाले कार्य को मुमकिन बना सके. उन्होंने आगे बताया कि इस केस के कॉम्प्लीकेशन्स ज्यादा थे, लेकिन फिर भी ये मुश्किल काम सफलतापूर्वक पूरा हो गया. कैंसर के इलाज में दुनिया के लिए ये एक ब्रेकथ्रू है. क्योंकि इस तरह का कैंसर एक बार शरीर से निकल जाए फिर उसके दोबारा होने की संभावना लगभग खत्म हो जाती है. 1 लाख में से केवल 1 शख्स को ये दोबारा होता है. 

ये भी पढ़ें:- 50 पैसे में टी-शर्ट खरीदने का निकला ऑफर, कट गया गदर, बुलानी पड़ी पुलिस

कम कर सकते हैं कैंसर का खतरा

नेशनल कैंसर रजिस्ट्री प्रोग्राम (NCRP) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2020 में भारत में करीब 14 लाख कैंसर के मामलों का अनुमान लगाया गया था. WHO की मानें तो तंबाकू का इस्तेमाल न करने, एक्टिव लाइफस्टाइल बनाए रखने और HPV वायरस के खिलाफ टीका लगवाने से कैंसर के खतरे को 30 प्रतिशत से 50 प्रतिशत तक घटाया जा सकता है. साथ ही अर्ली स्टेज पर कैंसर का पता चलने पर इलाज में आसानी हो सकती है.

LIVE TV

Trending news