अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद हार्दिक पटेल ने कहा, 'घर से जारी रखूंगा भूख हड़ताल'

बीते 15 दिन से भूख हड़ताल कर रहे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को रविवार को यहां एक निजी अस्पताल से छुट्टी मिल गई.

अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद हार्दिक पटेल ने कहा, 'घर से जारी रखूंगा भूख हड़ताल'
रविवार को हार्दिक पटेल के अनशन का 16वां दिन है. (फाइल फोटो)

अहमदाबाद: बीते 15 दिन से भूख हड़ताल कर रहे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को रविवार को यहां एक निजी अस्पताल से छुट्टी मिल गई. इसके बाद पटेल को उनके आवास पर ले जाया गया जहां उन्होंने अपना अनिश्चितकालीन अनशन जारी रखा है. रविवार को उनके अनशन का 16वां दिन है. बड़ी संख्या में तैनात पुलिसकर्मियों ने मीडियाकर्मियों को हार्दिक के आवास की तरफ जाने वाली सड़क पर ही रोक दिया. कुछ संवाददाताओं से धक्कमुक्की की गई और पुलिस ने उन्हें पाटीदार नेता के घर में घुसने से रोकने के लिए उन पर लाठीचार्ज किया.

अहमदाबाद: उपवास के 14वें दिन हार्दिक पटेल की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में हुए भर्ती

बता दें कि हार्दिक ने पाटीदारों को सरकारी नौकरियों तथा शिक्षा में आरक्षण तथा किसानों को ऋण माफी की मांग को लेकर 25 अगस्त को अपने आवास से अनिश्चितकालीन अनशन शुरू किया था.

फेसबुक लाइव के जरिये अनशन जारी रखने की बात कही
हार्दिक (25) की तबीयत बिगड़ने पर उनके समर्थकों ने उन्हें शुक्रवार को सोला राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया था और बाद में उन्हें निजी एसजीवीपी हालिस्टिक अस्पताल में ले जाया गया था. जहां से उन्हें रविवार को छुट्टी दी गई. उन्होंने अस्पताल में भी अनशन जारी रखा था. अस्पताल से छुट्टी मिलने से पहले हार्दिक ने अपने समर्थकों से फेसबुक लाइव के जरिये कहा कि वह अपने आवास पर भूख हड़ताल जारी रखेंगे.

अस्पताल में हार्दिक का अनशन जारी, शरद की अपील, 'पानी और खाना लेना शुरू कर दें'

गौरतलब है कि लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव, द्रमुक नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ए राजा ने शनिवार को अस्पताल में हार्दिक से मुलाकात की थी और उनके प्रति समर्थन व्यक्त किया था. 

विपक्षी नेताओं का मिल रहा है समर्थन
हार्दिक ने ट्वीट किया था, ‘शरद यादव जी मुझसे अस्पताल में मिलने आएं. उन्होंने सामाजिक न्याय और किसानों के अधिकार के लिए मेरी लड़ाई का समर्थन किया. उनसे काफी प्रभावित हूं.’ उन्होंने राजा के अस्पताल पहुंचने की एक तस्वीर भी ट्विटर पर साझा की और कहा कि द्रमुक ने उनको समर्थन दिया है.

(इनपुट भाषा से)