close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP: हॉस्टल में गंदे सेनेटरी पैड मिलने पर वार्डन ने उतरवाए छात्राओं के कपड़े

मध्य प्रदेश के सागर जिला स्थित डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. इस नामी विश्वविद्यालय के हॉस्टल में गंदा सेनेटरी पैड मिलने पर न सिर्फ छात्राओं की तलाशी ली गई, बल्कि इस दौरान उनके कपड़े भी उतरवा दिए गए.

MP: हॉस्टल में गंदे सेनेटरी पैड मिलने पर वार्डन ने उतरवाए छात्राओं के कपड़े
डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी के कुलपति ने मामले में कार्रवाई का आश्वासन दिया

नई दिल्ली (अतुल अग्रवाल) : मध्य प्रदेश के सागर जिला स्थित डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. इस नामी विश्वविद्यालय के हॉस्टल में गंदा सेनेटरी पैड मिलने पर न सिर्फ छात्राओं की तलाशी ली गई, बल्कि इस दौरान उनके कपड़े भी उतरवा दिए गए. इस शर्मनाक घटना के बाद पीड़ित छात्राओं ने कुलपति को शिकायती पत्र सौंपा है, जिसमें उन्होंने घटना के बारे में बताते हुए हॉस्टल वार्डन और आउटसोर्सिंग वार्डन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

गंदा पैड मिलने पर वार्डन ने पार की हदें
जानकारी के मुताबिक, 24 मार्च को डॉ. हरिसिंह गौर यूनिवर्सिटी के रानी लक्ष्मीबाई कन्या छात्रावास परिसर में इस्तेमाल किया हुआ गंदा सेनेटरी पैड मिला था. इस घटना से हॉस्टल वार्डन और आउटसोर्सिंग वार्डन नाराज हो गईं. ये पता करने के लिए कि खुले में गंदा पैड किसने फेंका है, उन्होंने छात्राओं और उनके कमरों की तलाशी लेना शुरू कर दिया.

कमरों की तलाशी तक सब ठीक रहा, लेकिन वार्डन इतने पर ही नहीं रुकीं और उन्होंने छात्राओं की तलाशी लेते हुए उन्हें कपड़े उतारने का फरमान सुना दिया. खुद को असहाय पाते हुए छात्राओं को ऐसा करना पड़ा. इस घटना का छात्राओं पर गहरा प्रभाव पड़ा और वो शर्मिंदगी महसूस करने लगी.

26 की उम्र तक नहीं जानती थीं सेनेटरी पैड, पढ़कर अमेरिका गईं, अब भारत में जागरूक करेंगी

छात्राओं ने की कुलपति से शिकायत
छात्राओं का एक ग्रुप घटना की लिखित शिकायत लेकर यूनिवर्सिटी के कुलपति आरपी तिवारी के पास पहुंचा. उन्होंने अपनी पीड़ा सुनाते हुए हॉस्टल वार्डन और आउटसोर्सिंग वार्डन पर कार्रवाई की मांग की. कुलपति ने मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने छात्राओं को आश्वासन दिया कि तीन दिनों के अंदर जांच पूरी कर ली जाएगी और दोषी पाए जाने पर दोनों वार्डनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.