close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जावड़ेकर, गोयल, प्रधान, नकवी और हर्षवर्धन ने केंद्रीय मंत्री पद की शपथ ली

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह के दौरान इन नेताओं को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई. 

जावड़ेकर, गोयल, प्रधान, नकवी और हर्षवर्धन ने केंद्रीय मंत्री पद की शपथ ली
फोटो साभारः ANI

नई दिल्ली: धर्मेद्र प्रधान, प्रकाश जावेड़कर, पीयूष गोयल, मुख्तार अब्बास नकवी और हर्षवर्धन ने गुरुवार को केंद्रीय मंत्री के रूप में शपथ ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह के दौरान इन नेताओं को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई. इससे पहले, राष्ट्रपति ने नरेंद्र मोदी को भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाई. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी. प्रधानमंत्री मोदी ने हिन्दी में ईश्वर के नाम पर शपथ ली. 

प्रधानमंत्री मोदी ने हिन्दी में ईश्वर के नाम पर शपथ ली 
प्रधानमंत्री मोदी ने हिन्दी में ईश्वर के नाम पर शपथ ली. स्पष्ट जनादेश वाली गैर कांग्रेसी सरकार के प्रधानमंत्री के तौर पर लगातार दूसरी बार शपथ लेने वाले वह पहले नेता हैं. शपथ लेने के बाद मोदी ने राष्ट्रपति के पास जाकर उनसे हाथ मिलाया और उनकी बधाई स्वीकार की.

शपथ ग्रहण समारोह में करीब आठ हजार मेहमान शामिल
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 68 वर्षीय नरेन्द्र मोदी को राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में आयोजित एक समारोह में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में आयोजित होने वाले इस शपथ ग्रहण समारोह में करीब आठ हजार मेहमान शामिल हुए.

वर्ष 2014 में मोदी को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दक्षेस देशों के प्रमुखों सहित 3500 से अधिक मेहमानों की मौजूदगी में शपथ दिलायी थी. राष्ट्रपति भवन के प्रांगण का इस्तेमाल आम तौर पर देश की यात्रा पर आने वाले राष्ट्राध्यक्षों एवं सरकार के प्रमुखों के औपचारिक स्वागत के लिए किया जाता है. इससे पहले 1990 में चंद्रशेखर और 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी को राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में शपथ दिलायी गई थी. 

शपथ ग्रहण समारोह में बिम्सटेक देशों, बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली, म्यामां के राष्ट्रपति यू विन मिंट और भूटान के प्रधानमंत्री लोताय शेरिंग ने शामिल हुए. थाईलैंड से उसके विशेष दूत जी बूनराच ने देश का प्रतिनिधित्व किया.

 भारत के अलावा बिम्सटेक में बांग्लादेश, म्यामां, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं. इन नेताओं के साथ-साथ शंघाई सहयोग संगठन के वर्तमान अध्यक्ष और किर्गिस्तान के वर्तमान राष्ट्रपति जीनबेकोव और मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ को भी शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया गया है. मोदी नीत भाजपा ने लोकसभा चुनाव में 542 सीटों में से 303 सीटें जीतकर सत्ता में बहुमत के साथ वापसी की है. 

इनपुट भाषा से भी