close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हरसिमरत कौर ने कसा सिद्धू पर तंज, कहा- 'उन्हें भारत से ज्यादा पाकिस्तान में प्यार मिलता है'

इमरान खान ने नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तान से चुनाव लड़ने का ऑफर दिया है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि सिद्धू को भारत के मुकाबले पाकिस्तान में ज्यादा प्यार और सम्मान दिया जाता है. उनके यहां से अच्छे संबंध है, जो मैंने (इमरान) ने भी देखे हैं. 

हरसिमरत कौर ने कसा सिद्धू पर तंज, कहा- 'उन्हें भारत से ज्यादा पाकिस्तान में प्यार मिलता है'
हरसिमरत कौर ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर सेरेमनी में शामिल होना उनके लिए भावनात्मक और ऐतिहासिक क्षण था.

नई दिल्ली/अमृतसर: केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने बुधवार (28 नवंबर) को कांग्रेस नेता और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर तंज कसते हुए कहा कि उन्हें भारत से ज्यादा पाकिस्तान में प्यार और सम्मान मिलता है. आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर का यह बयान तब आया जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान मे करतारपुर कॉरिडोर की आधारशिला के दौरान कहा था कि सिद्धू उनके देश (पाकिस्तान) में भी चुनाव जीत सकते हैं.

हरसिमरत कौर ने एएनआई को बताया कि इमरान खान ने नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तान से चुनाव लड़ने का ऑफर दिया है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि सिद्धू को भारत के मुकाबले पाकिस्तान में ज्यादा प्यार और सम्मान दिया जाता है. उनके यहां से अच्छे संबंध है, जो मैंने (इमरान) ने भी देखे हैं. 

करतारपुर कॉरिडोर सेरेमनी के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि मैंने सुना कि जब मेरे शपथ ग्रहण समारोह के बाद नवजोत सिंह सिद्धू वापस अपने देश गए, तो उनकी खूब आलोचना हुई. मैं नहीं जानता कि किस कारण से उनकी आलोचना की गई. उन्होंने कहा कि वह तो शांति और भाईचारे की बात कर रहे हैं. वह यहां आ सकते हैं और पाकिस्तान के पंजाब से चुनाव लड़ सकते हैं. उन्होंने कहा और ये निश्चित है कि अगर पाकिस्तान से उन्होंने चुनाव लड़ा, तो वो विजयी होंगे. 

हरसिमरत कौर ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर सेरेमनी में शामिल होना उनके लिए भावनात्मक और ऐतिहासिक क्षण था. उन्होंने कहा कि पिछले 48 घंटे में मैं अपनी आंखों के सामने इतिहास और चमत्कार होते देख रही हूं. दोनों तरफ (भारत और पाकिस्तान) काफी ज्यादा खुशिया हैं. अगर बर्लिन की दीवार गिर सकती है, अगर उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया में मतभेद दूर हो सकते हैं, अगर जर्मनी और फ्रांस अपने मतभेद को निपटा सकते हैं. तो ये समय है कि हम अपने घृणा के दीवार को भी गिरा दें.

पाकिस्तान में आयोजित करतारपुर गलियारे के आधारशिला के मौके पर दोनों देशों के कई प्रतिनिधि और मंत्री कार्यक्रम में पहुंचे थे. जिसमें भारत की तरफ से केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और आवास एवं शहरी मामलों के केंद्रीय राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने नरेंद्र मोदी सरकार का प्रतिनिधित्व किया. मोदी सरकार में ये दोनों मंत्री सिख समुदाय से हैं.

करतारपुर साहिब पाकिस्तान में रावी नदी के पार स्थित है और डेरा बाबा नानक से करीब चार किलोमीटर दूर है. सिख गुरु ने 1522 में इस गुरुद्वारे की स्थापना की थी. प्रथम गुरुद्वारा कहा जाने वाला गुरुद्वारा करतारपुर साहिब यहीं बनाया गया था. ऐसा माना जाता है कि गुरु नानक देव ने यहीं अंतिम सांस ली थी. गुरु नानक देव की 550वीं जयंती अगले साल है. भारत से हर साल हजारों सिख श्रद्धालु गुरु नानक जयंती पर पाकिस्तान की यात्रा करते हैं.

भारत ने करीब 20 साल पहले इस गलियारे के लिए पाकिस्तान को प्रस्ताव दिया था. कार्यक्रम में भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय मंत्रियों हरसिमरत कौर बादल और हरदीप सिंह पुरी ने किया. पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू भी कार्यक्रम में शामिल हुए. पिछले हफ्ते, पाकिस्तान और भारत ने घोषणा की कि वे अपने-अपने क्षेत्र में गलियारा विकसित करेंगे.