राष्ट्र प्रेम की मिसाल बने गांव में राष्ट्रगान के वक्‍त विधायक करने लगे फोन पर बात

बीएसपी विधायक टेकचंद शर्मा भी सावधान की ही मुद्रा में थे लेकिन तभी उनका मोबाइल फोन बज उठा.

राष्ट्र प्रेम की मिसाल बने गांव में राष्ट्रगान के वक्‍त विधायक करने लगे फोन पर बात
तेलंगाना के बाद अब हरियाणा में भी एक गांव अब हर दिन एक साथ राष्ट्रगान गाया जाएगा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली: तेलंगाना के बाद अब हरियाणा में भी एक गांव अब हर दिन एक साथ राष्ट्रगान गाया जाएगा. फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ उपमंडल के गांव भनकपुर की पंचायत ने इस के लिए सारे प्रबंध भी कर लिए हैं. भनकपुर हरियाणा का पहला ऐसा गांव है जहां सभी गांव वालों को राष्ट्र प्रेम से इस तरह जोड़ने की व्यवस्था की गई है. गुरुवार को इस योजना का शुभारंभ हुआ. इस मौके पर वहां पृथला के बीएसपी विधायक टेकचंद शर्मा, फरीदाबाद के एसडीएम प्रताप सिंह और आरएसएस के हरियाणा सह-संयोजक गंगा शंकर सहित कई अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे. लेकिन, इस अवसर पर विधायक से एक बड़ी गलती हो गई जो मीडिया की नजरों से बच न सकी.

दरअसल, कार्यक्रम के दौरान जैसे ही राष्ट्रगान बजा तो सभी लोग सावधान की मुद्रा में खड़े हो गए. बीएसपी विधायक टेकचंद शर्मा भी सावधान की ही मुद्रा में थे लेकिन तभी उनका मोबाइल फोन बज उठा. यहीं विधायक से गलती हो गई और वे सावधान की मुद्रा छोड़ मोबाइल पर बात करने लगे. मौके पर मौजूद मीडियाकर्मियों ने इस घटना को अपने कैमरों में कैद कर लिया. विधायक जब राष्ट्रगान के वक्त फोन पर बात कर रहे थे उस वक्त उनके साथ अग्रिम पंक्ति में मौजूद लोग भी उनकी इस हरकत से हैरान नजर आ रहे थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भनकपुर गांव में अब हर दिन सुबह 8 बजे राष्ट्रगान होना है जिसमें 5 हजार ग्रामीण शामिल होंगे. गांव के सरपंच सचिन मडोतिया ने अपनी इस पहल के बारे में मीडिया से बात करते हुए कहा कि गांव में इसके लिए 20 लाउडस्पीकर लगाए गए हैं. गांव में लाउडस्पीकर लगाने में दो लाख 97 हजार रुपये का खर्च आया है. मडोतिया ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया है कि उनको इस बात का आइडिया तेलंगाना के जम्मिकुंटा गांव से मिला था जहां लोग एक साथ राष्ट्रगान गाते हैं.

आपको बता दें कि भनकपुर गांव के सरपंच मडोतिया राजनीति शास्त्र से एम.ए. (दूरस्थ शिक्षा) की पढ़ाई कर रहे हैं. वे अपने कॉलेज के दिनों में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता रहे हैं.