लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे पर देवगौड़ा की कांग्रेस को खरी-खरी, 'सुधार ले व्यवहार'

जेडीएस सुप्रीमो देवगौड़ा ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को सलाह देते हुए कहा कि गठबंधन की सरकार चलाने में दिक्कत आ रही है, तो थोड़ा दर्द सहना सीखना होगा.

लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे पर देवगौड़ा की कांग्रेस को खरी-खरी, 'सुधार ले व्यवहार'
देवगौड़ा ने कांग्रेस से लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे के लिए 2:1 का फॉर्मूला दिया है.

नई दिल्ली: 2019 लोकसभा चुनाव (Lok Sabha elections 2019) से पहले कांग्रेस द्वारा विपक्षी पार्टियों के महागठबंधन बनाने के प्रयास पर जेडीएस सुप्रीमो एचडी देवगौड़ा ने सवाल खड़ा कर दिया है. देवगौड़ा ने एक बयान में कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए महागठबंधन बनाने से पहले कांग्रेस को क्षेत्रीय पार्टियों (क्षत्रप) के साथ अच्छा व्यवहार अपनाना चाहिए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी देश के तमाम सेकुलर दलों के बड़े भाई जैसी है. कांग्रेस को जेडीएस के साथ सही व्यवहार करना चाहिए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के साथ सीट शेयरिंग के मुद्दे पर बातचीत चल रही है. 

अपने बेटे और कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी को भी दी सलाह
जेडीएस सुप्रीमो देवगौड़ा ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को सलाह देते हुए कहा कि गठबंधन की सरकार चलाने में दिक्कत आ रही है, तो थोड़ा दर्द सहना सीखना होगा. उन्होंने कहा कि मैं किसी पर कोई आरोप नहीं लगाऊंगा. उन्होंने कहा कि कुमारस्वामी को समझना होगा कि अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए थोड़ा दर्द सहना पड़ता है. उन्होंने कहा कि मेरी सलाह है कि वह (कुमारस्वामी) दिक्कतों का सामना करें और आगे बढ़ते रहें. बता दें कि कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस की गठबंधन सरकार है. 

कर्नाटक में जेडीएस चाहती है 2:1 के फॉर्मूले पर सीट बंटवारा
देवगौड़ा ने कांग्रेस से लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे के लिए 2:1 का फॉर्मूला दिया है. गौरतलब है कि जेडीएस प्रमुख एचडी देवगौड़ा ने हाल ही में कहा था कि कर्नाटक में गठबंधन सरकार के किसी भी सहयोगी की ओर से गठबंधन ''धर्म'' का उल्लंघन कांग्रेस-जेडीएस सरकार के अंत का कारण बनेगा, क्योंकि इससे राज्य में सांप्रदायिक ताकतों को लाभ पहुंचेगा. पूर्व प्रधानमंत्री ने एक साक्षात्कार में कहा था, ''अगर किसी ने भी सोचा कि वह श्रेष्ठ है या गठबंधन सहयोगी पर हावी होने की सोचता है और गठबंधन धर्म का उल्लंघन करता है तो यह विनाशकारी होगा, क्योंकि इससे कर्नाटक में सांप्रदायिक ताकतों को लाभ पहुंचेगा.'' 

कांग्रेस पर लगा था कुमारस्वामी को कामकाज नहीं करने देने का आरोप
उन्होंने कहा था कि सांप्रदायिक ताकतों को किनारे रखने के लिये गठबंधन सरकार को सुचारू रूप से चलाने के लिये कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) दोनों ही एक फॉर्मूले पर काम कर रही हैं. देवगौड़ा की यह टिप्पणी जेडीएस के वरिष्ठ नेता बासवराज होराती के उन आरोपों की पृष्ठभूमि में आया है जिसमें उन्होंने कांग्रेस पर गठबंधन धर्म का उल्लंघन करने और मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को शांति से कामकाज नहीं करने देने का आरोप लगाया था.