हम सेकंड वेव के बीच में, 5 राज्‍यों में 1 लाख से अधिक केस: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय

कोरोना (Corona) की मौजूदा स्थिति पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है, पिछले साल औसत सबसे ज्यादा मामले 94,000 प्रतिदिन के पास दर्ज किए गए थे. इस बार पिछले 24 घंटों में 2,95,000 मामले दर्ज किए गए हैं.  

हम सेकंड वेव के बीच में, 5 राज्‍यों में 1 लाख से अधिक केस: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: कोरोना की मौजूदा स्थिति पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है, देश के 146 जिले ऐसे है जहां पॉजिटिविटी रेट 15 प्रतिशत से ज्यादा है. 274 जिले ऐसे है जहां पॉजिटिविटी 5 से लेकर 15 फीसदी है. 308 जिले ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी 5% से कम है. 5 राज्य ऐसे हैं जहां 1 लाख से ज्यादा एक्टिव केसे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है, अभी हम दूसरी वेव का सामना कर रहे हैं..

एक्टिव केस पिछले साल की तुलना में दोगुने

स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा, देश में एक्टिव मामलों की संख्या 21,57,000 है. यह संख्या पिछले साल की हमारी अधिकतम संख्या की दोगुनी है. रिकवरी दर 85% है. मृत्यु दर 1.17% है. पिछले साल औसत सबसे ज्यादा मामले 94,000 प्रतिदिन के पास दर्ज किए गए थे. इस बार पिछले 24 घंटों में 2,95,000 मामले दर्ज किए गए हैं.  

13 करोड़ से ज्यादा कोरोना वैक्सीन लग चुकीं

स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा, देश में 13 करोड़ से ज्यादा कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) की डोज दी जा चुकी हैं. पिछले 24 घंटों में लगभग 30 लाख वैक्सीन डोज दी गई हैं. स्वास्थ्य सचिव ने कहा, 87 प्रतिशत हेल्थ वर्कर को पहली डोज मिल चुकी है और 80 प्रतिशत ने दूसरी डोज ले ली है. पहली और दूसरी डोज लेने के बाद कितने लोग संक्रमण का शिकार हुए उसका ब्यौरा देते हुए कहा, संक्रमित होने वालों की संख्या 2 से 4 प्रतिशत है.

यह भी पढ़ें: आ चुका है कोरोना का ट्रिपल म्यूटेंट, डबल म्यूटेंट से भी है खतरनाक?

पीक कब आएगी?

उन्होंने कहा, भारत सरकार एक बार में राज्यों को  15 दिन की वैक्सीन प्रोवाइड करेगी. ऑक्सीजन का प्रोडक्शन 7 हजार 500 मीट्रिक टन है. हम देश में सभी राज्यों को 6600 मीट्रिक टन दे रहे हैं. .  वैक्सीनशन सेन्टर को भारत सरकार की गाइडलाइन का पालन करना होगा और कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना होगा. वैक्सीन लगाने के बाद यदि संक्रमण होता भी है तो ज्यादा गंभीर नहीं होता. स्वास्थ्य सचिव ने कहा, अब तक सारे अध्ययन के बाद हम ये कह सकते हैं कि वैक्सीनेशन में हमें बड़ी कामयाबी मिली है. विदेशी वैक्सीन बनाने वाले निर्माताओं से हमारी बातचीत चल रही है. पीक कब आएगी इस सवाल के जवाब में कहा, अभी हम कुछ नहीं बता सकते.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.