EXCLUSIVE: प्याज की कीमतों में बीते 2-3 दिनों में आई भारी कमी, अगले हफ्ते से आधे हो सकते हैं दाम

बीते करीब तीन माह से दिल्ली समेत पूरे देश में प्याज के दाम लोगों को रुला रहे थे लेकिन अब लोगों को जल्द इससे राहत मिलने वाली है.

 EXCLUSIVE: प्याज की कीमतों में बीते 2-3 दिनों में आई भारी कमी, अगले हफ्ते से आधे हो सकते हैं दाम
अब जनता को नहीं रुलाएगा प्याज

नई दिल्ली: बीते करीब तीन माह से दिल्ली समेत पूरे देश में प्याज के दाम लोगों को रुला रहे थे लेकिन अब लोगों को जल्द इससे राहत मिलने वाली है. दरअसल, नासिक से नई प्याज की फसलें आनी शुरू हो गई हैं जिससे इसके दाम में भारी गिरावट देखी जा रही है. थोक मंडी में तो देसी प्याज के दाम आधे हो गए हैं. ज़ी मीडिया संवाददाता सुमित कुमार ने ओखला मंडी का जायजा लिया. जहां हमारे संवाददाता ने पाया कि पिछले 2 दिनों से प्याज की आवक ओखला मंडी में दोगुनी हो गई है. 

ज़ी मीडिया से Exclusive बातचीत में नासिक से आए प्याज व्यापारी शकील ने बताया कि पिछले 2 से 3 दिनों में प्याज के दामों में भारी कमी आई है और प्याज के दाम आधे हो गए हैं क्योंकि नासिक में प्याज की नई फसलें तैयार हो गई हैं और दिल्ली समेत पूरे देश में इसकी सप्लाई शुरू हो गई है. शकील ने ये भी बताया कि नासिक से आए प्याज की आवक ओखला मंडी में पहले के मुकाबले दोगुनी हो गई है पहले रोजाना सौ टन आया करता था लेकिन अब ढाई सौ आ रहा है.

हालांकि पुराने स्टॉक के चलते लोग अभी भी खुदरा बजारा में प्याज 70 से ₹90 किलो खरीदने को मजबूर हैं. प्याज के व्यापारियों का मानना है कि नया स्टॉक जैसे ही बाजार में आएगा वैसे ही प्याज के दाम में भारी गिरावट आएगी और अगले हफ्ते से प्याज के दाम आधे से भी कम हो जाएंगे. वहीं दूसरी ओर देश में 5 हजार टन विदेशी प्याज स्टॉक में रहने के बावजूद इसे खरीदने वाला कोई नहीं है.

लोगों के बाद अब राज्यों की ओर से इसमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई जा रही है. जिसके चलते इसके दाम लगातार गिरते जा रहे हैं. थोक में विदेशी प्याज के दाम 35 रूपये प्रति किलो तक जा पहुंचा है. प्याज व्यापारियों ने बताया कि इस प्याज में स्वाद नहीं होता है जिसके चलते लोग इसे एक बार खरीद लेते हैं तो दुबारा नहीं खरीदते. और रही सही कसर नासिक की प्याज ने पूरी कर दी है. क्योंकि नई आवक से इस विदेशी प्याज के दाम में भारी गिरावट आ रही है और इसे कोई खरीद भी नहीं रहा.

गौरतलब है कि ज्यादा बारिश से प्याज के उत्पादन में करीब 25 फीसदी की गिरावट आई थी जिससे इसकी कीमतों में भारी बढ़ोतरी देखी गई है. सरकार पहले ही प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध लगा चुकी है. व्यापारियों के लिए स्टॉक सीमा तय कर दी गई है. यही नहीं सरकार सस्ती दर पर बफर स्टॉक की आपूर्ति भी कर रही है. अधिकारियों की मानें तो लाल और पीले दोनों रंगों के प्याज तुर्की, मिस्र और अफगानिस्तान से आयात किए जा रहे हैं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.