आज खुलेंगे सबरीमाला के कपाट, कांग्रेस ने भी किया महिलाओं की एंट्री का विरोध

पुलिस ने कहा कि सुचारू रूप से ‘दर्शन’ के लिए 2300 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है जिनमें 20 सदस्यीय कमांडो टीम और 100 महिलाएं शामिल हैं. इस तरह की किलेबंदी का पूर्ववर्ती शाही परिवार पंडालम, भाजपा और कांग्रेस ने विरोध किया है.

आज खुलेंगे सबरीमाला के कपाट, कांग्रेस ने भी किया महिलाओं की एंट्री का विरोध

सबरीमाला : भगवान अयप्पा का मंदिर विशेष पूजा के लिए सोमवार को खुलने से पहले पुलिस ने वहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. सबरीमाला तथा आसपास के इलाकों में चार या अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. पिछले महीने रजस्वला उम्र वर्ग की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश देने के विरोध में हिंसक प्रदर्शन हुए थे. पुलिस ने कहा कि सुचारू रूप से ‘दर्शन’ के लिए 2300 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है जिनमें 20 सदस्यीय कमांडो टीम और 100 महिलाएं शामिल हैं. इस तरह की किलेबंदी का पूर्ववर्ती शाही परिवार पंडालम, भाजपा और कांग्रेस ने विरोध किया है.

उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर सर्किल निरीक्षक और उपनिरीक्षक रैंक की 30 महिला पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा, जिनकी उम्र 50 वर्ष से अधिक होगी.  पम्बा, निलक्कल, इलावुंगल और सन्निधानम में शनिवार की मध्य रात्रि से 72 घंटे के लिए सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की गई है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी उम्र वर्ग की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश की अनुमति दिए जाने के बाद दूसरी बार ‘दर्शन’ के लिए मंदिर खुल रहा है.

VIDEO: AAP विधायक अमानतुल्लाह पर गुंडागर्दी का आरोप, मनोज तिवारी बोले-मुझे दिया धक्का

मंदिर सोमवार को शाम पांच बजे विशेष पूजा ‘‘श्री चितिरा अट्टा तिरूनाल’’ के लिए खुलेगा और उसी दिन रात दस बजे बंद हो जाएगा. तांत्री कंडारारू राजीवारू और मुख्य पुजारी उन्नीकृष्णन नम्बूदिरी मंदिर के कपाट संयुक्त रूप से खोलेंगे और श्रीकोविल (गर्भगृह) में दीप जलाएंगे.

कांग्रेस भी उतरी विरोध में
सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कांग्रेस भी विरोध में उतर आई है. रविवार को केरल कांग्रेस के नेताओं ने पतनमतिथा में एक विरोध प्रदर्शन किया. इसमें केरल कांग्रेस के सभी बड़े नेताओं ने हिस्सा लिया. बता दें कि अब तक इस मामले में कांग्रेस की ओर से कोई बयान नहीं आया था.

अब तक किसी महिला के आने की सूचना नहीं
केरल पुलिस के अनुसार, अब तक किसी भी महिला ने सबरीमाला मंदिर में आने के लिए पुलिस से सुरक्षा की मांग नहीं की है. पुलिस का कहना है कि अगर 10 से 50 साल की महिलाओं की ओर से सुरक्षा मांगी जाएगी तो वह उन्हें पूरी सुरक्षा देगी.