close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आज भी थम सकती है 'मायानगरी मुंबई' की रफ्तार, हाईटाइड के कारण उठेंगी 3 मीटर से ऊंची लहरें

मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि रविवार को भी मुंबई और आस-पास के इलाकों में तकरीबन 200 एमएम बारिश हो सकती है. चेतावनी लाल रंग में जारी है, जिसका मतलब है कि संबंधित विभाग बेहद सतर्क रहें.

आज भी थम सकती है 'मायानगरी मुंबई' की रफ्तार, हाईटाइड के कारण उठेंगी 3 मीटर से ऊंची लहरें
क्षेत्रीय मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के उत्तर में बने एक कम दबाव के क्षेत्र और बेहतर मॉनसून करंट के चलते भारी बारिश हो रही है.

मुंबई : मुंबई में बारिश का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. शुक्रवार देर शाम से लगातार हो रही बारिश के कारण कुछ जगहों पर जलभराव की स्थिति बन गई है. वहीं. मुंबई के पास बदलापुर में ट्रैक पर पानी जमा होने से एक एक्सप्रेस ट्रेन फंस गई. इसी बीत भारतीय मौसम विभाग ने चेतावनी जारी है कि 29 जुलाई तक शहर में बारिश के ऐसे ही हालात रहने वाले हैं. मौसम विभाग के मुताबिक, सुबह 9 बजकर 3 मिनट पर हाईटाइड आ सकता है. समुद्र में लहरे 4 मीटर तक उठ सकती हैं.

अलर्ट पर बीएमसी डिजास्टर सेल
मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि रविवार को भी मुंबई और आस-पास के इलाकों में तकरीबन 200 एमएम बारिश हो सकती है. चेतावनी लाल रंग में जारी है, जिसका मतलब है कि संबंधित विभाग बेहद सतर्क रहें. वहीं, प्रशासनिक अधिकारियों ने बीएमसी के डिजास्टर सेल को अलर्ट पर रखा है. इसके साथ ही मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है.

देखिए LIVE TV

अभी नहीं मिलेगी बारिश से राहत
क्षेत्रीय मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के उत्तर में बने एक कम दबाव के क्षेत्र और बेहतर मॉनसून करंट के चलते भारी बारिश हो रही है. बारिश आगे भी जारी रहेगी. अधिकारी ने कहा कि जब भी बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनता है, तो पश्चिमी तटीय इलाकों सहित मध्य इलाकों में अच्छी बारिश होती है. हाल में तैयार हुए सिस्टम के कारण मुंबई सहित राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश हो रही है. 

स्थानीय लोगों के लिए जारी की गई चेतावनी
विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक, 27 जुलाई से भारी बारिश की आशंका के चलते लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि ऐसी परिस्थिति में पुराने ढांचों या मकान की दीवार ढहने की घटना से इनकार नहीं किया जा सकता. बता दें कि राज्य में बीते दिनों दीवार गिरने की वजह से कई लोग घायल हो गए थे. ऐसे हादसे में कई लोगों की जान भी चली गई थी.