गृहमंत्री का ऐलान - जम्मू-कश्मीर में सेना के काफिले के दौरान आम लोगों की आवाजाही रोकी जाएगी

गृहमंत्री ने कहा कि भारत सरकार शहीद जवानों के परिवार के साथ खड़ी है, सभी राज्य सरकारों से अपील है कि शहीदों के परिवारों की मदद करें. 

गृहमंत्री का ऐलान - जम्मू-कश्मीर में सेना के काफिले के दौरान आम लोगों की आवाजाही रोकी जाएगी
गृहमंत्री राजनाथ सिंह कहा कि हम आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई जीतेंगे.

श्रीनगर: सीआरपीएफ काफिले पर हमले के एक दिन बाद जम्मू-कश्मीर दौरे पर पहुंचे गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद अधिकारियों के साथ बैठक. बैठक में चीफ सेक्रेट्ररी जम्मू कश्मीर,  आर्मी कमांडर, गवर्नर सत्यपाल मलिक, डीजी सीआरपीएफ और कुछ सीनियर अफसर मौजूद थे.  

गृहमंत्री ने बैठक के बाद संवाददाताओं को बताया कि ये फ़ैसला लिया गया है कि अब जब भी सैनिकों का बड़ा काफिला चलेगा तो आम लोगों क़ा आवागमन थोड़ी देर रोका जाएगा, इससे उन्हें दिक्कत तो होगी, लेकिन इसके लिए क्षमा चाहेंगे. गृहमंत्री ने कहा कि जम्मू कश्मीर में कुछ तत्वों के तार आईएसआई और आतंकी संगठनों से जुड़े हैं. हम आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई जीतेंगे. पूरी दुनिया आतंकवाद के साथ खड़ी है. भारत सरकार शहीद जवानों के परिवार के साथ खड़ी है. सभी राज्य सरकारों से अपील है कि शहीदों के परिवारों की मदद करें. 

गृहमंत्री ने कह, सभी अधिकारियों को अवश्यक निर्देश दे दिए गए हैं, सीमा पार से आतंक फैलाने वालों के मंसूबे कामयाब नहीं होने देंगे. सभी राज्य सरकारों से भी मैंने यह अनुरोध किया है कि जो भी गरीब परिवारों की अधिकतम मदद कर सकते हो वह अधिकतम मदद करें और मैं बता देना चाहता हूं कि हमारे सुरक्षाबलों के हौसले पूरी तरह से बुलंद हैं और आतंकवाद के खिलाफ हम जो निर्णायक लड़ाई लड़ रहे हैं उसमें हमें कामयाबी मिलेगी. 

उन्होंने आगे कहा, "जम्मू-कश्मीर की आवाम को मैं अपनी तरफ से यह विश्वास दिलाना चाहता हूं कि सीमा पार से आतंक फैलाने वाली ताकतों को के मंसूबों को हम कामयाब नहीं होने देंगे. मुझे इस बात की खुशी है कि जम्मू कश्मीर की जनता आतंकवाद के खिलाफ इस लड़ाई में हमारे साथ पूरी तरह से है. कुछ ऐसे तत्व हैं जो कि सीमापार की आतंकवादी ताकतों और आईएसआई के साथ उनकी मिलीभगत है और आतंकवाद की गहरी साजिश में ऐसे कुछ लोग शामिल हैं. मैं कहना चाहता हूं कि ऐसे लोग जम्मू कश्मीर की जनता के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं और हमारे नौजवानों के भविष्य के साथ भी खिलवाड़ कर रहे हैं."