कश्मीर में सुरक्षा पर गृह मंत्री अमित शाह की हाईलेवल मीटिंग, शहीद के परिवार से की मुलाकात
X

कश्मीर में सुरक्षा पर गृह मंत्री अमित शाह की हाईलेवल मीटिंग, शहीद के परिवार से की मुलाकात

Amit Shah Jammu-Kashmir Visit: आतंकवादी लगातार जम्मू-कश्मीर में टारगेट किलिंग कर रहे हैं. खासकर हिंदुओं को निशाना बनाया जा रहा है. कश्मीरी पंडितों को डराने की कोशिश हो रही है.

कश्मीर में सुरक्षा पर गृह मंत्री अमित शाह की हाईलेवल मीटिंग, शहीद के परिवार से की मुलाकात

श्रीनगर: गृह मंत्री (Home Minister) अमित शाह (Amit Shah) आज (शनिवार) से 3 दिन के दौरे पर जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में हैं. अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद अमित शाह का ये पहला कश्मीर दौरा (Amit Shah Kashmir Visit) है. गृह मंत्री अमित शाह ने श्रीनगर में सुरक्षा के हवाले से एक अहम बैठक की, जिसमें जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा के अलावा पुलिस के आला अधिकारी भी मौजूद रहे. इसके अलावा गृह मंत्री आज श्रीनगर से शारजाह विमान सेवा की शुरुआत भी करेंगे.

शहीद इंस्पेक्टर के परिजनों से गृह मंत्री की मुलाकात

गृह मंत्री अमित शाह श्रीनगर पहुंच चुके हैं. श्रीनगर में उन्होंने शहीद इंस्पेक्टर परवेज के घर जाकर उनके परिवार से मुलाकात की. जून महीने में आतंकियों ने इंस्पेक्टर परवेज अहमद की हत्या कर दी थी. गृह मंत्री ने परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी का भरोसा दिया. उन्होंने कहा कि पूरा देश शहीद के परिवार के साथ है.

कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था हुई सख्त

जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए आज का दिन खास होने जा रहा है. अमित शाह ने सुरक्षा एजेंसियों के अफसरों के साथ अहम बैठक की. अमित शाह के दौरे को देखते हुए कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था काफी सख्त कर दी गई है.

ये भी पढ़ें- कश्मीर पर नेहरू की वो भूल, आज भी देश के लिए पड़ रही है भारी

कई मायनों में खास है गृह मंत्री का दौरा

गृह मंत्री अमित शाह का जम्मू-कश्मीर दौरा कई मायनों में खास है. पहला तो ये कि कश्मीर घाटी में लगातार लोगों की टारगेट किलिंग हुई है. दूसरा ये कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से गृह मंत्री का ये पहला दौरा है. अमित शाह के दौरे को लेकर जम्मू-कश्मीर में खासी तैयारियां की गई हैं. सुरक्षा व्यवस्था को काफी सख्त कर दिया गया है.

अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के लिए किए गए खास इंतजाम

पूरे जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा के अभूतपूर्व इंतजाम किए हैं. मानो सुरक्षाबलों की इजाजत के बिना एक परिंदा भी पर नहीं मार सकता तो फिर आतंकी मंसूबों की हस्ती ही क्या है भला. श्रीनगर के 15 संवेदनशील इलाकों में ड्रोन से हवाई निगरानी की जा रही है. इन इलाकों में अल्पसंख्यक आबादी ज्यादा है. यूं तो जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा एजेंसिंयों को हमेशा चौकन्ना रहना होता है. लेकिन ये तैयारी बेहद खास है.

ये भी पढ़ें- कश्मीर में दुबई के निवेश पर आया पूर्व पाक राजदूत का बयान, इमरान को नहीं आएगा पसंद

गृह मंत्री अमित शाह के दौरे और घाटी में अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों को देखते हुए कश्मीर के कुछ इलाकों में इंटरनेट पर रोक लगा दी गई है. मकसद ये है कि देश विरोधी किसी भी हरकत को रोका जाए.

आज की मीटिंग में उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने गृह मंत्री अमित शाह को जम्मू-कश्मीर के हालात की जानकारी दी. अमित शाह के साथ बैठक में IB के अधिकारी, CRPF और NIA के डीजी भी शामिल हुए. गृह मंत्री पंचायत सदस्यों के साथ-साथ राजनीतिक कार्यकर्ताओं को भी संबोधित करेंगे. अमित शाह श्रीनगर से शारजाह की पहली फ्लाइट का भी उद्घाटन करेंगे.

अमित शाह का जम्मू-कश्मीर दौरा इसलिए भी और महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि पिछले एक महीने में आतंकियों ने अपनी रणनीति बदलकर आम जनता में दहशत फैलाने के लिए टारगेट किलिंग का नया रास्ता चुना है. पिछले एक महीने में टारगेट किलिंग के जरिए कई बेगुनाह लोगों की हत्या कर दी गई. तमाम चुनौतियों के बावजूद गृह मंत्री शाह ने और मजबूती से अपने दौरे को लेकर सक्रियता दिखाई है. संदेश साफ है देश के गृह मंत्री कश्मीर में ग्राउंड जीरो पर जाकर बता देना चाहते हैं कि देश विरोधी किसी भी हरकत को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

LIVE TV

Trending news