गृहमंत्री अमित शाह ने वामपंथी चरमपंथ के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का दिया आदेश

अमित शाह ने कहा वामपंथी चरमपंथियों के अलावा अर्बन नक्सल (Urban Naxals) और उनके मददगारों के खिलाफ भी एक्शन लेने की जरूरत है.

गृहमंत्री अमित शाह ने वामपंथी चरमपंथ के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का दिया आदेश
अमित शाह ने सीआरपीएफ को वामपंथी चरमपंथ को जड़ से खत्म करने का आदेश दिया

नई दिल्ली: गृहमंत्री (Home Minister) अमित शाह (Amit Shah) ने अर्धसैनिक बल सीआरपीएफ (CRPF) को वामपंथी चरमपंथ (Left Wing Extremism) को जड़ से खत्म करने का आदेश दिया. अमित शाह ने कहा कि अब वामपंथी चरमपंथियों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़नी होगी. वामपंथी चरमपंथियों के अलावा अर्बन नक्सल (Urban Naxals) और उनके मददगारों के खिलाफ भी एक्शन लेने की जरूरत है.

दरअसल, अमित शाह आज (शुक्रवार) नई दिल्ली (New Delhi) में सीआरपीएफ के हेडक्वार्टर पहुंचे थे. वहां उन्हें सीआरपीएफ के महानिदेशक (Director General) राजीव राय भटनागर (Rajeev Rai Bhatnagar) ने वामपंथी चरमपंथ पर एक प्रेजेंटेशन दी.

जिसके बाद अमित शाह ने सीआरपीएफ को वामपंथी चरमपंथ के खिलाफ अगले 6 महीने तक प्रभावी और निर्णायक अभियान चलाने का आदेश दिया. गृहमंत्री और सीआरपीएफ की इस बैठक में गृहमंत्रालय के कई बड़े अधिकारी और सीआरपीएफ के अधिकारी शामिल हुए.

आपको बता दें कि अमित शाह देश के गृहमंत्री बनने के बाद पहली बार सीआरपीएफ के हेडक्वार्टर पहुंचे थे. वहां उन्हें सीआरपीएफ की तरफ से गार्ड ऑफ ऑनर (Guard of Honour) भी दिया गया.

अमित शाह ने भारत की आंतरिक सुरक्षा और लॉ एंड ऑर्डर बनाए रखने में सीआरपीएफ के महत्वपूर्ण योगदान की तारीफ भी की.  गृहमंत्री ने भारत में माओवाद (Maoism) और नक्सलवाद (Naxalism) का दंश झेल रहे इलाकों की समीक्षा की और सीआरपीएफ के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने पर भी चर्चा की.

गृहमंत्री ने कहा कि माओवाद, नक्सलवाद से प्रभावित इलाकों में रोड कनेक्टिविटी और मेडिकल सुविधा का और ज्यादा विकास करने की जरूरत है. अमित शाह ने सीआरपीएफ को निर्देश दिया कि आम गांव वालों तक पहुंच बनानी चाहिए और उनसे मिलकर बात भी करनी चाहिए.

गृहमंत्री अमित शाह ने सीआरपीएफ अधिकारियों से वामपंथी चरमपंथ के अलावा जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के मौजूदा हालात पर भी चर्चा की. अमित शाह ने कहा आतंकवादियों के खिलाफ भी और ज्यादा कड़े प्रहार की जरूरत है.