हनीप्रीत के पकड़े जाने की जानें पर्दे के पीछे की पूरी कहानी, कोर्ट में आज पेशी

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हनीप्रीत सोमवार रात से ही पंचकूला के 15 किमी दायरे में थी. 

हनीप्रीत के पकड़े जाने की जानें पर्दे के पीछे की पूरी कहानी, कोर्ट में आज पेशी
हरियाणा पुलिस ने मंगलवार को हनीप्रीत से पूछताछ की... (फोटो साभार: ANI)

डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की सजा के बाद से गायब हनीप्रीत को 38 दिन बाद बेहद नाटकीय अंदाज में पकड़ लिया गया. हनीप्रीत पंचकूला हिंसा के बाद हरियाणा सरकार की 43 मोस्‍टवांटेड की सूची में टॉप पर थी. पुलिस ने उसको दोपहर 3 बजे जिरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ्तार कर लिया. उसके बाद उसको सेक्‍टर 23 चंडी मंदिर थाने में ले जाया गया. हनीप्रीत के साथ सुखदीप कौर नामक महिला को भी गिरफ्तार किया गया. बुधवार को इनको कोर्ट में पेश किया जाएगा. 

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हनीप्रीत सोमवार रात से ही पंचकूला के 15 किमी दायरे में थी. मंगलवार तड़के उसने दो मीडिया चैनलों को इंटरव्‍यू दिया. उसके छह घंटे बाद पुलिस ने ट्रैक कर जिरकपुर-पटियाला रोड से उसको गिरफ्तार किया. रिकॉर्ड के मुताबिक हनीप्रीत की गिरफ्तारी जिरकपुर के पास से हरियाणा पुलिस एसआईटी ने की. उसके साथ जिस महिला को गिरफ्तार किया गया, उसके बारे में पंचकूला कमिश्‍नर ने कहा कि वह बठिंडा की रहने वाली है, हालांकि बठिंडा के एसएसपी ने इससे इनकार किया है. 

यह भी पढ़ें: हनीप्रीत से कुछ भी नहीं उगलवा पाई हरियाणा पुलिस

उससे चली चार घंटे की पूछताछ में यह बात निकलकर आ रही है कि फरारी के दौरान हनीप्रीत बठिंडा में कुछ दिन रही. हरियाणा के पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने बताया कि प्रियंका तनेजा उर्फ हनीप्रीत को जिरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ्तार किया गया. महिला पुलिस अधिकारी समेत कई अधिकारियों ने हनीप्रीत से पूछताछ की लेकिन कुछ भी उगलवाने में नाकाम रही. पंचकुला में पत्रकारों से बात करते हुए पुलिस आयुक्त एएस चावला ने बताया, "एसआईटी प्रभारी (मुकेश कुमार) ने उसे पंजाब में जिरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ्तार किया. उसे हिंसा की घटनाओं के सिलसिले में पूछताछ के लिए पंचकूला लाया गया है." चावला ने बताया, ‘‘(25 अगस्त को राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद) हिंसा में उसकी भूमिका की जांच की जाएगी...फरारी के दौरान जिसने उसे शरण दी या समर्थन दिया, उनको भी पेश किया जाएगा. उसे (पंचकुला में) एक अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा और हम उसकी पुलिस हिरासत मांगेंगे."  

यह भी पढ़ें: हनीप्रीत के पंजाब में छुपे होने पर सरकार ने दी ये सफाई

पंजाब पुलिस का इनकार
हनीप्रीत की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर खबर उड़ी कि वह इससे पहले पंजाब पुलिस की हिरासत में थी. इस मामले में पंजाब सरकार ने उन खबरों को खारिज किया कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम की सहयोगी हनीप्रीत इंसां पंजाब पुलिस की हिरासत में थी या राज्य सरकार ने उन्हें संरक्षण दे रखा था. हरियाणा पुलिस ने सोमवार को 36 वर्षीय हनीप्रीत को जिरकपुर-पटियाला रोड से 25 अगस्त को राम रहीम को दोषी ठहराने के बाद हुई हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार कर लिया. पंजाब सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि राज्य मामले में शामिल नहीं है और पंजाब ने हरियाणा पुलिस को सिर्फ खुफिया और अन्य प्रासंगिक जानकारियां मुहैया कराने में सहायता की है.