close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हनीप्रीत से कुछ भी नहीं उगलवा पाई हरियाणा पुलिस, कोर्ट में पेशी आज

गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हुई हिंसा की घटनाओं के सिलसिले में 'वांछित' 43 लोगों की सूची में हनीप्रीत का नाम सबसे ऊपर है. 

हनीप्रीत से कुछ भी नहीं उगलवा पाई हरियाणा पुलिस, कोर्ट में पेशी आज
हरियाणा पुलिस ने मंगलवार को हनीप्रीत से पूछताछ की... (फोटो साभार: ANI)

चंडीगढ़: हरियाणा पुलिस ने जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख की मुंह बोली बेटी हनीप्रीत इंसां को मंगलवार पंजाब में जिरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ्तार किया. गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हुई हिंसा के सिलसिले में वांछित हनीप्रीत एक माह से ज्यादा अर्से से फरार थीं. संधू ने कहा, "हमने उसे गिरफ्तार किया है." बलात्कार मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हुई हिंसा की घटनाओं के सिलसिले में 'वांछित' 43 लोगों की सूची में हनीप्रीत का नाम सबसे ऊपर है. इन घटनाओं में 41 लोगों की मौत हो गई जबकि कई अन्य घायल हुए.

बड़ी बात यह है कि हनीप्रीत भटिंडा में ही पिछले काफी समय से छुपी हुई थी. हरियाणा के पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने बताया कि प्रियंका तनेजा उर्फ हनीप्रीत को जिरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ्तार किया गया. महिला पुलिस अधिकारी समेत कई अधिकारियों ने हनीप्रीत से पूछताछ की लेकिन कुछ भी उगलवाने में नाकाम रही.

 

 

पंचकुला में पत्रकारों से बात करते हुए पुलिस आयुक्त एएस चावला ने बताया, "एसआईटी प्रभारी (मुकेश कुमार) ने उसे पंजाब में जिरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ्तार किया. उसे हिंसा की घटनाओं के सिलसिले में पूछताछ के लिए पंचकूला लाया गया है." चावला ने बताया, ‘‘(25 अगस्त को राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद) हिंसा में उसकी भूमिका की जांच की जाएगी...फरारी के दौरान जिसने उसे शरण दी या समर्थन दिया, उनको भी पेश किया जाएगा. उसे (पंचकुला में) एक अदालत के समक्ष कल पेश किया जाएगा और हम उसकी पुलिस हिरासत मांगेंगे." चावला ने यह भी कहा कि हनीप्रीत के साथ एक और महिला थी. उसे भी गिरफ्तार किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: आखिर 38 दिन तक कहां रही हनीप्रीत?

उन्होंने बताया, "हनीप्रीत एक इन्नोवा एसयूवी में सफर कर रही थी और उसके साथ एक और महिला थी." उन्होंने बताया कि पंजाब पुलिस को भी इस गिरफ्तारी के बारे में जानकारी दी गई है.

चावला से जब पूछा गया कि क्या हरियाणा पुलिस को हनीप्रीत के बारे में पंजाब पुलिस से जानकारी मिली तो उन्होंने कहा, "हमारे पास जो खुफिया जानकारी हैं, हम इस मोड़ पर उन सभी को साझा नहीं कर सकते कि किन लोगों ने हमारी मदद की." उनसे जब इन रिपोर्टों पर टिप्पणी करने को कहा गया कि हरियाणा पुलिस के हाथों गिरफ्तार होने से पहले हनीप्रीत पंजाब पुलिस की हिरासत में थी तो वह कोई सीधा जवाब देने से कतरा गए. बहरहाल, इन रिपोर्टों पर टिप्पणी करते हुए मोहाली के एसएसपी कुलदीप चहल ने कहा कि ऐसी खबरें 'भ्रामक' हैं.

ये भी पढ़ें: किराये के मकान में रहती थीं हनीप्रीत, राम रहीम ने सिर पर रखा हाथ और बदली किस्‍मत

पत्रकारों ने जब पूछा कि हनीप्रीत को कहां रखा गया है तो चावला ने कहा, "ये सभी अभियान के ब्योरे हैं जिन्हें मैं साझा नहीं कर सकता." उन्होंने कहा कि प्राथमिकता 25 अगस्त को राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद हुई हिंसा के संबंध में हनीप्रीत से पूछताछ करना है. उन्होंने कहा, "जब हम विस्तार से उससे पूछताछ करेंगे कि किस ने किस का समर्थन किया, किस ने गुनाह किया, किन जगहों पर वह छिपी और किसने उसे शरण दी तो ये सारी चीजें सामने आएंगी." उन्होंने एक सवाल पर कहा कि राम रहीम का एक रिश्तेदार सियासतदान है, वह भी जांच के दायरे में आएंगे. गिरफ्तारी से कुछ ही समय पहले हनीप्रीत दो निजी टीवी चैनलों पर आई थी.