महाराष्ट्र में कब तक चलेगी अघाड़ी की 'गाड़ी', मोदी के खिलाफ सब कुछ कबूल है?

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस-एनसीपी पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है. शाह ने पूछा है कि सीएम पद का लालच देकर समर्थन लेना खरीद-फरोख्त नहीं तो क्या है?

महाराष्ट्र में कब तक चलेगी अघाड़ी की 'गाड़ी', मोदी के खिलाफ सब कुछ कबूल है?
उद्धव ठाकरे कल शाम शिवाजी पार्क में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.

नई दिल्ली: महाराष्ट्र (Maharashtra) में गठबंधन सरकार का शपथग्रहण कल होगा. उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) कल शाम शिवाजी पार्क में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. ममता बनर्जी, नीतीश कुमार, जगनमोहन रेड्डी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हो सकते हैं. इसी बीच, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने कांग्रेस-एनसीपी पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है. शाह ने पूछा है कि सीएम पद का लालच देकर समर्थन लेना खरीद-फरोख्त नहीं है क्या?. शाह ने कहा कि अगर 100 सीटों वाला गठबंधन 56 सीट वाली पार्टी को सीएम पद दे रहा है तो ये निश्चित तौर पर खरीद-फरोख़्त ही है. अमित शाह ने शरद पवार और सोनिया गांधी को चुनौती दी कि वो एक बार ये बोल कर देखें कि सीएम उनका होगा और तब शिवसेना का समर्थन हासिल करके दिखाएं. अब सवाल यह है कि क्या मोदी के खिलाफ सब कुछ कबूल है?

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री बन सकते हैं अजित पवार
चाचा शरद पवार से बगावत करने वाले अजित पवार महाराष्ट्र सरकार में मंत्री बन सकते हैं. महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद अजित पवार बुधवार को पहली बार मीडिया के सामने आए. विधायक पद की शपथ लेने के बाद अजित पवार ने कहा कि मैं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में था और हूं. क्या आपके पास मुझे पार्टी से निकालने की लिखित जानकारी है? मैं पार्टी में था और हूं. अजित पवार ने कहा, नई सरकार में मेरी भूमिका पार्टी तय करेगी. 

सत्ता के लिए मातोश्री की 'सीमा लांघी':  
उद्धव ठाकरे कब-कब बाहर निकले?
-  11 नवंबर को होटल में शरद पवार से मिले
-  12 नवंबर को होटल में अहमद पटेल से मुलाकात 
-  13 नवंबर को होटल में कांग्रेस नेताओं से मिले
-  21 नवंबर को शरद पवार के घर जाकर मुलाकात 
-  25 नवंबर मुंबई में कांग्रेस-एनसीपी से मीटिंग
- 26 नवंबर के मुंबई के ट्राइडेंट होटल में गठबंधन के नेता चुने गए.

देखें वीडियो: 

महाराष्ट्र में ऐसे पलटी बाजी?

- 23 नवंबर को महाराष्ट्र में बीजेपी की सरकार बनी. देवेंद्र फड़णवीस सीएम और अजित पवार डिप्टी सीएम बने. 
- 24 नवंबर को बीजेपी ने बहुमत के लिए बैठक करके रणनीति बनाई. 
- 25 नवंबर को शिवसेना, कांग्रेस-एनसीपी ने 162 विधायकों का शक्ति प्रदर्शन किया.
- 26 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट से फड़णवीस सरकार को बहुमत साबित करने का आदेश  
- 26 नवंबर को 80 घंटे के बाद महाराष्ट्र की सरकार गिरी, विश्वास मत परीक्षण से पहले फड़णवीस का सरेंडर
- 26 नवंबर को महा विकास अघाड़ी ने उद्धव ठाकरे को गठबंधन का नेता चुना
- 26 नवंबर को गठबंधन ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया
- 27 नवंबर को विधानसभा में विधायकों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई

महाराष्ट्र में किसके-कितने मंत्री?
सूत्रों के मुताबिक, शिवसेना के कोटे में 15 मिलने की संभावना है. एनसीपी को उप-मुख्यमंत्री समेत कुल 14 मंत्रालय मिलने की संभावना है. एनसीपी प्रदेश में सिर्फ़ एक डिप्टी चीफ मिनिस्टर रखने के हक में है. कांग्रेस को 13 मंत्रालय और कांग्रेस को उप-मुख्यमंत्री कुर्सी या फिर विधानसभा अध्यक्ष कुर्सी की पेशकश की गई है. 

उद्धव के 28 मंत्री फ़ाइनल!
एकनाथ शिंदे, सुभाष देसाई, रामदास कदम, दिवाकर रावते, अनिल परब, सुनील सावंत, अब्दुल सत्तार, प्रताप सरनाईक, सुनील प्रभु, रविंद्र वायकर का मंत्री बनना तय है. 

NCP के 10 नाम तय
एनसीपी की ओर से मंत्री बनने वाले 10 विधायकों के नाम लगभग तय हो चुके हैं. जयंत पाटिल, छगन भुजबल, दिलीप वलसे पाटिल, नवाब मलिक, राजेश टोपे, अनिल देशमुख, जितेन्द्र अव्हाड, हसन मुश्रीफ मंत्री बनने बन सकते हैं. 

कांग्रेस के 8 नाम तय
मंत्री पद के लिए कांग्रेस के 8 विधायकों के नाम तय हो चुके हैं. बालासाहेब थोराट, अशोक चव्हाण, माणिकराव ठाकरे, यशोमति ठाकुर, अमित देशमुख, विजय वडटेड्डीवार, वर्षा गायकवाड़ का मंत्री बनना लगभग तय है.