GES 2017: उद्घाटन से पहले इवांका ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी से की मुलाकात

आज से हैदराबाद में तीन दिन के वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन (जीईएस) शुरू हो रहा है. इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे.

GES 2017: उद्घाटन से पहले इवांका ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी से की मुलाकात
हैदराबाद में एक मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री मोदी और इवांका ट्रंप

नई दिल्ली: आज से हैदराबाद में तीन दिन के वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन (जीईएस) शुरू हो रहा है. इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे. जीईएस में शिरकत करने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी और सलाहकार इवांका ट्रंप हैदराबाद पहुंच चुकी हैं. यहां पहुंच कर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. मुलाकात के बाद उन्होंने वहां लगीं प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया. इवांका के अलावा दुनियाभर के बिजनेस टायकून इसमें शिरकत कर रहे हैं. सम्मेलन में 127 देशों के 1,200 से ज्यादा युवा उद्यमी हिस्सा ले रहे हैं. इस साल सम्मेलन का विषय ‘वूमेन फर्स्ट, प्रॉस्पेरिटी फॉर ऑल' है. सम्मेलन में शिरकत करने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने हैदराबाद मेट्रो रेल का उद्घाटन किया. 

इवांका सम्मेलन में ट्रंप प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों और उद्यमियों के एक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रही हैं. इवांका के साथ प्रतिनिधिमंडल में कई बड़े प्रशासनिक अधिकारी और कारोबार जगत के दिग्गज शामिल हैं. बताया गया है कि इवांका के साथ करीब 350 अधिकारी और कारोबारियों का दल हैदराबाद पहुंच चुका है. 36 साल की इवांका पहले भी भारत आ चुकी हैं लेकिन राष्ट्रपति की वरिष्ठ सलाहकार के तौर पर वह पहली बार भारत का दौरा कर रही हैं. इवांका ने अपनी भारत यात्रा से पहले कहा, ‘‘यह दोनों देशों के लोगों की गहरी दोस्ती और हमारी बढ़ती आर्थिक एवं सुरक्षा भागीदारी का प्रतीक है.’’ प्रधानमंत्री मोदी ने इस साल जून में अपनी अमेरिका की यात्रा के दौरान इवांका को जीईएस में हिस्सा लेने के लिए व्यक्तिगत रूप से आमंत्रित किया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस सम्मेलन के बारे में ट्वीट करते हुए इस बड़े आयोजन पर प्रसन्नता जाहिर की है. प्रधानमंत्री उद्घाटन समारोह के ठीक बाद एक परिचर्चा सत्र में भाग लेंगे. इस सत्र में महिला उद्यमियों के लिए उभरते अवसरों पर चर्चा होगी. इस चर्चा में इवांका और अन्य प्रतिभागियों के साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन भी होंगी. इसमें जोर महिला उद्यमियों को समर्थन तथा वैश्विक स्तर पर आर्थिक वृद्धि को गति देने पर है.

VIDEO: डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप के बारे में जानें अनसुनी बातें

सम्मेलन में कुल प्रतिभागियों में करीब 52.5 प्रतिशत महिलाएं हैं. यह पहली बार है जब जीईएस में महिला प्रतिनिधियों की भागीदारी अधिक होगी. इसमें 127 देशों की महिलाएं भाग लेंगी तथा अफगानिस्तान, सऊदी अरब और इस्राइल जैसे 10 देश हैं जहां से केवल महिला प्रतिनिधि आ रही हैं. टेनिस चैंपियन सानिया मिर्जा, गूगल की उपाध्यक्ष डायना लुईस पैट्रिसा लेफील्ड तथा अफगान सीटाडेल की सीईओ राया महबूब जैसी विभिन्न क्षेत्रों में अपनी पहचान बनाने वाली महिलाएं विभिन्न सत्रों में अपनी बातों को रखेंगी. सम्मेलन के लिए चुने गए एकतिहाई उद्यमी अमेरिका से, एकतिहाई भारत से तथा एकतिहाई दुनिया के अन्य देशों के हैं. 

उद्यमिता शिखर सम्मेलन का भारत में पहली बार आयोजन किया जा रहा है. जीईएस के मद्देनजर हैदराबाद को न केवल बड़ी खूबसूरती के साथ सजाया गया है, बल्कि सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए हैं. 10,000 से अधिक सुरक्षाकर्मियों को यहां के चप्पे-चप्पे में तैनात किया गया है.