इबोला मामला: सरकार ने किए मजबूत उपाय, कहा-घबराने की जरूरत नहीं

भारत में इबोला का पहला मामला सामने आने की खबरों के एक दिन बाद सरकार ने बुधवार को इसे फैलने से रोकने के लिए उपायों को मजबूत बनाने का निर्णय किया और तीन सदस्यीय समिति का गठन किया जो हवाईअड्डों पर खामियों को दूर करेगा।

नई दिल्ली : भारत में इबोला का पहला मामला सामने आने की खबरों के एक दिन बाद सरकार ने बुधवार को इसे फैलने से रोकने के लिए उपायों को मजबूत बनाने का निर्णय किया और तीन सदस्यीय समिति का गठन किया जो हवाईअड्डों पर खामियों को दूर करेगा।

सरकार ने कहा कि स्थिति ‘पूरी तरह से नियंत्रण’ में है और घबराने की कोई जरूरत नहीं है। स्वास्थ मंत्री ज पी नड्डा ने कहा कि दिल्ली हवाईअड्डे की तरह की व्यवस्था 24 अन्य हवाईअड्डों पर की गई है। दिल्ली हवाईअड्डे पर दुरूस्त व्यवस्था के कारण लाइबेरिया से लौटे एक 26 वर्षीय भारतीय नागरिक में विषाणु का पता लगाया गया था।

नड्डा ने कहा कि मंत्रालय विशेषज्ञों का दल गठित करेगा जो राज्यों का दौरा करंेगे तथा इबोला के मरीजों का उपचार करने वाले अस्पतालों में तैयारियों का जायजा लेंगे। स्थिति की समीक्षा के लिए मंगलवार को दिल्ली में अंतर मंत्रालयी बैठक की अध्यक्षता करते हुए नड्डा ने अधिकारियों से कहा कि ऐसे मरीजों को हवाई अड्डे पर अलग थलग रखने के संबंध में सभी दिशानिर्देशों एवं मनदंडों का पालन हो।

आज जारी आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, तीन सदस्यीय दल का गठन किया जायेगा जो सभी हवाई अड्डों पर खामियों की पहचान करेंगे। इसमें स्वास्थ्य, नागर विमानन और अप्रवासन विभाग के अधिकारी शामिल होंगे। जम्मू में नड्डा ने संवाददाताओं से कहा, ‘घबराने की कोई जरूरत नहीं है। स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में हैं।