जम्मू कश्मीर को लेकर है मन में है कोई कन्फ्यूजन तो जानें ये 10 बातें

अमित शाह ने बुधवार को राज्यसभा में कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में पांच अगस्त को राज्य का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के बाद से पुलिस की गोली में किसी नागरिक की मौत नहीं हुई है. उन्होंने जोर देकर कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में स्थिति सामान्य हो गई है.

जम्मू कश्मीर को लेकर है मन में है कोई कन्फ्यूजन तो जानें ये 10 बातें
जम्मू कश्मीर को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने संसद में बयान दिया.

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में अनुच्छेद 370 हटने के बाद से वहां के हालात को लेकर कई लोग केंद्र सरकार पर सवाल उठा रहे हैं. गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने संसद में जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) को लेकर विस्तार से जवाब दिया. अमित शाह (Amit Shah) ने बुधवार को राज्यसभा में कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में पांच अगस्त को राज्य का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के बाद से पुलिस की गोली में किसी नागरिक की मौत नहीं हुई है. उन्होंने जोर देकर कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में स्थिति सामान्य हो गई है. घाटी में सामान्य स्थिति बहाली के संबंध में कांग्रेस नेता टी. सुब्बारामी रेड्डी के सवाल के जवाब में शाह ने कहा कि घाटी में स्थिति सामान्य हो गई है. स्कूल, कॉलेज, दुकानें और बाजार अब खुल गए हैं और कानून-व्यवस्था सामान्य है. घाटी में इंटरनेट बहाली के सवाल पर उन्होंने कहा, 'जहां तक इंटरनेट सेवा की बहाली का सवाल है, यह निर्णय स्थानीय प्रशासन से सलाह लेने के बाद उचित समय पर किया जाएगा.'

शाह जब घाटी की वर्तमान स्थिति के सवाल पर जवाब दे रहे थे, तो कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने यह कहते हुए उन्हें टोक दिया, 'स्कूल और कॉलेज तो खुल गए हैं, लेकिन वहां उपस्थिति न के बराबर है. इसका कोई प्रावधान नहीं है, जिसमें छात्रों की स्कूल से सुरक्षित घर वापसी सुनिश्चित हो सके.'

घाटी में इंटरनेट सेवाओं की बहाली के मुद्दे पर शाह के बयान पर आजाद ने कहा, 'पाकिस्तान से कई सालों से खतरा रहा है, इसमें कुछ नया नहीं है. तो ऐसी कठोर व्यवस्था क्यों? इंटरनेट के बिना छात्र अपनी पढ़ाई जारी कैसे रखें?' इस पर शाह ने कहा कि जब देश की सुरक्षा का सवाल हो तो सरकार को प्राथमिकताएं तय करनी होंगी.

उन्होंने कहा, 'मैं मानता हूं कि आज इंटरनेट सेवा की बहुत जरूरत है, लेकिन जब बात देश की सुरक्षा, जम्मू एवं कश्मीर की जनता की सुरक्षा और आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई की आती है तो हमें अपनी जरूरतों को प्राथमिकता देनी होगी.'

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता मजीद मेमन ने गृहमंत्री से अनुमानित समय पूछा जब राज्य अपनी सामान्य स्थिति में पहुंचेगा? इस पर शाह ने जवाब दिया, 'घाटी में स्थिति सामान्य है, स्कूल और कॉलेज खुले हैं, सेब उद्योग बेहतर हो रहा है और हर संभव तरीके से सामान्य जीवन बहाल हो गया है.' शाह ने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में पांच अगस्त को राज्य का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के बाद से पुलिस की गोली एक भी नागरिक की मौत नहीं हुई है.

अमित शाह (Amit Shah) ने कश्मीर को लेकर कही ये 10 बातें-:
1. जम्मू-कश्मीर में किसी इलाके में कर्फ्यू नहीं
2. जम्मू-कश्मीर में हालात पूरी तरह सामान्य
3. किसी नागरिक की पुलिस की गोली से मौत नहीं
4. पिछले साल के मुकाबले पत्थरबाजी में कमी
5. इंटरनेट बहाली पर स्थानीय प्रशासन लेगा फ़ैसला
6. सरकारी अस्पतालों में दवाइयों की कमी नहीं
7. सभी स्कूल-कॉलेज और सरकारी दफ्तर, कोर्ट खुले
8. जम्मू-कश्मीर में सभी जगह दुकानें खुली
9. बीडीसी चुनाव में 98% वोटिंग हुई
10. कश्मीर में गड़बड़ी की कोशिश में है पाकिस्तान

ये भी देखें-: