close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

NGT का आदेश, जंतर-मंतर पर सभी प्रदर्शन फौरन रोके जाएं, रामलीला मैदान भेजे जाएं आंदोलनकारी

एनजीटी ने एनडीएमसी को कनॉट प्लेस के निकट स्थित जंतर-मंतर रोड से सभी अस्थायी ढांचों, लाउडस्पीकरों और जन उद्घोषणा प्रणालियों को हटाने के भी निर्देश दिए.

NGT का आदेश, जंतर-मंतर पर सभी प्रदर्शन फौरन रोके जाएं, रामलीला मैदान भेजे जाएं आंदोलनकारी
जंतर-मंतर पर प्रदर्शन का फाइल फोटो...

नई दिल्‍ली : राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने यहां जंतर मंतर क्षेत्र में सभी प्रदर्शनों और लोगों के इकट्टा होने को तत्काल रोकने के दिल्ली सरकार को गुरुवार को निर्देश दिए. न्यायमूर्ति आर एस राठौर की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) को कनॉट प्लेस के निकट स्थित जंतर-मंतर रोड से सभी अस्थायी ढांचों, लाउडस्पीकरों और जन उद्घोषणा प्रणालियों को हटाने के भी निर्देश दिए.

पीठ ने कहा, 'प्रतिवादी दिल्ली सरकार, एनडीएमसी और दिल्ली के पुलिस आयुक्त जंतर-मंतर पर धरना, प्रदर्शन, आंदोलनों, लोगों के इकट्टा होने, लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल आदि को तुरन्त रोकें'. अधिकरण ने प्रदर्शनकारियों, आंदोलनकारियों और धरने पर बैठे लोगों को वैकल्पिक स्थल के रूप में अजमेरी गेट में स्थित रामलीला मैदान में 'तुरन्त' स्थानांतरित करने के अधिकारियों को निर्देश दिए.

दरअसल, एक याचिका में कहा गया था कि जंतर मंतर पर आंदोलनों से बहुत ध्वनि प्रदूषण होता है. इस मामले में सुनवाई के दौरान बीते मई माह में एनजीटी ने विरोध-प्रदर्शनों के लिए जंतर-मंतर के विकल्प के तौर पर अन्य स्थान नहीं खोजने पर दिल्ली सरकार से नाराजगी जताई थी.

न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाली एनजीटी की पीठ ने कहा था कि कई अदालतों ने समय-समय पर विरोध-प्रदर्शनों के आयोजन स्थल के तौर पर किसी अन्य स्थान का चयन करने का आदेश दिया, लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ. पीठ ने आप सरकार से कहा था कि इसकी जगह रामलीला मैदान को तय करने की संभावना पर विचार किया जाए. इस स्थान पर भी बड़ी राजनीतिक रैलियां और सभाएं होती हैं.