20 तालिबान आतंकी कश्‍मीर में कर सकते हैं हमला, PAK ने दी ट्रेनिंग

 पाकिस्‍तान समर्थित आतंकी ग्रुप जम्‍मू और कश्‍मीर में हमले करने की योजना बना रहे हैं. 

20 तालिबान आतंकी कश्‍मीर में कर सकते हैं हमला, PAK ने दी ट्रेनिंग

नई दिल्‍ली: पाकिस्‍तान समर्थित आतंकी ग्रुप जम्‍मू और कश्‍मीर में हमले करने की योजना बना रहे हैं. खुफिया सूत्रों ने सुरक्षाबलों को इस संबंध में आगाह किया है. सूत्रों के मुताबिक तालिबान के 20 आतंकियों के एक समूह को पाकिस्‍तान की SSG ने आतंकी हमले के लिए अफगानिस्‍तान के जलालाबाद में प्रशिक्षित किया है. 

इसके साथ ही आतंकवादी समूहों द्वारा घुसपैठ की योजनाएं बनाई जा रही है. आतंकवादियों के दो समूहों को पाकिस्तान की पोस्‍ट और सरदारी में देखा गया है. जैश-ए-मोहम्मद केइसके अलावा जैश-ए-मोहम्‍मद और एक अन्‍य आतंकी गुट को केल और तेजियन में देखा गया है, जो कि माछिल सेक्टर के अपोजिट साइड है. इसी तरह लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के आतंकवादी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के गांव नट्टार और पाकिस्तान सेना के पोस्ट बदमाश कॉम्‍प्‍लेक्‍स में केंद्रित हैं.

कश्मीर में टला बड़ा हादसा, पुलवामा को दहलाना चाहते थे आतंकी; कार में रखा था विस्फोटक
 
ये ऐसे वक्‍त पर हो रहा है जब जम्‍मू और कश्‍मीर में पुलवामा (Pulwama) जैसे आतंकी हमले की साजिश को नाकाम कर दिया गया है. दरअसल एक कार में विस्फोटक रखा था, लेकिन आतंकियों के नापाक मंसूबे कामयाब नहीं हो पाए. समय रहते भारतीय जांबाजों ने IED को नष्ट कर दिया. सूत्रों के अनुसार IED को नष्ट करने के दौरान कुछ घरों को भी नुकसान पहुंचा है. जानकारी के अनुसार, पुलवामा के राजपोरा के अयानगुंड एरिया में एक कार में आईईडी (IED) रखा हुआ था. सूत्रों का कहना है कि कार में आतंकवादी भी मौजूद था, लेकिन घेराबंदी और गोलीबारी को देखते हुए वह भाग गया.

पुलिस को चार-पांच दिन पहले आईईडी ले जाने वाले वाहन के मूवमेंट के बारे में सूचना मिला थी. इसके बाद 44 आरआर, पुलिस और सीआरपीएफ ने संयुक्त अभियान चलाकर एक सैंट्रो कार से विस्फोटक बरामद किया. इसके बाद बम निरोधक दस्ते को तुरंत मौके पर बुलाया गया और इस दस्ते ने आईईडी को निष्क्रिय कर दिया.

आईजी विजय कुमार ने कहा कि आतंकवादी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे, लेकिन पुलवामा पुलिस, सीआरपीएफ और सेना ने इनपुट के आधार पर समय रहते कार्रवाई करके आतंकवादियों के नापाक मंसूबों को नाकाम कर दिया.

पुलवामा अटैक दोहराने की साजिश को नाकाम करने के लिए सुरक्षाबलों की सराहना करते रक्षा विशेषज्ञ ब्रिगेडियर (रि.) अनिल गुप्ता का कहना है कि इस तरह की साजिश का पाकिस्तान को पहले से ही पता था. ब्रिगेडियर गुप्ता ने इस सिलसिले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imaran Khan) के हाल ही में दिए गए बयान का हवाला दिया. उन्होंने कहा कि उस बयान में इमरान खान ने भारत पर ऑपरेशन ब्लैक करने का आरोप लगाकर उसकी आड़ में पाकिस्तान पर हमला करने की बात कही थी. गुप्ता के मुताबिक सैन्य भाषा में ऑपरेशन ब्लैक का मतलब अपने देश में हमला करवाकर दोष दूसरे देश पर मढ़कर काउंटर अटैक करना होता है.