सैन्य शक्ति के मामले में चीन से भी आगे अमेरिका, किस नंबर पर है भारत और पाकिस्तान?

दुनियाभर में आज खुद को हथियारों के मामले में ताकतवर बनाने की होड़ मची है. लेकिन अभी भी सैन्य शक्ति के हिसाब से देखा जाए तो अमेरिका दुनिया का सबसे बड़ा ताकतवर देश है. अमेरिका कुल मिलाकर चीन और रूस का तीन गुना अधिक खर्च अपनी सैन्य शक्ति पर करता है. यह तथ्य हाल ही में जारी की गई ग्लोबल रैंकिंग में सामने आई हैं. जारी हुई इस लिस्ट में भारत चौथे पायदान पर है. भारत कुल 51 मिलियन डॉलर का खर्च करता है.

सैन्य शक्ति के मामले में चीन से भी आगे अमेरिका, किस नंबर पर है भारत और पाकिस्तान?
भारत का रक्षा बजट 51,000,000,000 डॉलर का है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दुनियाभर में आज खुद को हथियारों के मामले में ताकतवर बनाने की होड़ मची है. लेकिन अभी भी सैन्य शक्ति के हिसाब से देखा जाए तो अमेरिका दुनिया का सबसे बड़ा ताकतवर देश है. अमेरिका कुल मिलाकर चीन और रूस का तीन गुना अधिक खर्च अपनी सैन्य शक्ति पर करता है. यह तथ्य हाल ही में जारी की गई ग्लोबल रैंकिंग में सामने आई हैं. जारी हुई इस लिस्ट में भारत चौथे पायदान पर है. भारत कुल 51 मिलियन डॉलर का खर्च करता है.

अमेरिका अपनी रक्षा बजट पर लगभग 600 डॉलर बिलियन का खर्च करता है

रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका अपनी रक्षा बजट पर लगभग 600 डॉलर बिलियन का खर्च करता है, जब रूस एक साल में लगभग 54 बिलियन डॉलर का खर्च करता है तो चीन 161 बिलियन डॉलर का खर्च करता है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पहले ही कह चुके हैं कि वह रक्षा बजट पर खासा ध्यान देंगे यही वजह है कि अमेरिकी रक्षा बजट में 54 बिलियन डॉलर की बढ़ोतरी हो सकती है. 

भारत दुनिया में चौथे नंबर पर

सैन्य शक्ति की इस लिस्ट में कुल 106 देशों को शामिल किया गया है कि जिसमें कई तरह के तथ्यों और आंकड़ों का ख्याल रखा गया है, इसमें रक्षा बजट, सैन्य शक्ति और हथियारों की संख्या पर ध्यान दिया गया है.  दुनिया भर की सेनाओं पर विश्लेषण करने वाली वेबसाइट ग्लोबल फायर पॉवर के मुताबिक, दूसरे नंबर पर रूस और तीसरे नंबर पर चीन की सेना आती है. फ्रांस 5वें नंबर पर है. वहीं, भारत फ्रांस से ऊपर चौथे नंबर पर है. जारी की गई लिस्ट में पाकिस्तान को 13वां नंबर मिला है.

कैसे तय होती है रैंकिंग?

रिपोर्ट के मुताबिक ग्लोबल फायरपॉवर वेबसाइट 50 फैक्टर्स के आधार पर रैंकिंग जारी करती है जिसमें रक्षा बजट, जनबल और देश के पास मौजूद सैन्य उपकरण को देखा जाता है. साथ ही इसमें हथियारों की श्रेणी, सैन्य लचीलापन और प्राकृतिक संसाधन भी शामिल होते हैं. 

अमेरिका की सैन्य शक्ति

अमेरिका का रक्षा बजट 587,800,000,000 है. उसके पास 145,215,000 जनशक्ति उपलब्ध है. डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद उन्होंने सैन्य शक्ति को बढ़ाने के लिए रक्षा बजट में 54 बिलियन अमेरिकी डॉलर वृद्धि की इच्छा जाहिर की थी. अमेरिका के पास 19 एयरक्राफ्ट/हैलीकॉप्टर कैरियर, 5884 टैंक्स, 13762 एयरक्राफ्ट, नौसेना ताकत के रूप में 415 जहाज और 14,00,000 सैनिक सीमा पर तैनात हैं.

भारत की सैन्य शक्ति 

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत का रक्षा बजट 51,000,000,000 डॉलर का है. भारत के पास 4,426 टैंक, तीन एयरक्राफ्ट/हेलीकॉप्टर कैरियर और 2,102 एयरक्राफ्ट हैं. वहीं नौसेना की ताकत के रूप में 295 जहाज हैं. साथ ही सीमा पर 1,325,000 जवान तैनात हैं.

पाकिस्तान की सैन्य शक्ति

पाकिस्तान का रक्षा बजट 7,000,000,000 है. उसके पास 2924 टैंक और 951 एयरक्राफ्ट हैं. उसके पास एक भी एयरक्राफ्ट कैरियर नहीं है. उसकी नौसेना ताकत के रूप में 197 जहाज हैं. सीमा पर उसके पास 6,20,000 जवान तैनात हैं.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.