Breaking News
  • उत्तराखंड को पीएम नरेंद्र मोदी का तोहफा, 6 बड़े प्रोजेक्ट का उद्घाटन
  • IPL 2020: SRH vs DC Live Score Update: दिल्ली ने जीता टॉस, पहले बॉलिंग का फैसला

कोरोना संकट के चलते 15 अगस्त के कार्यक्रम में होंगे ये बड़े बदलाव

कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) की वजह से इस बार 15 अगस्त के स्वतंत्रता दिवस समारोह कार्यक्रम में कई महत्वपूर्ण बदलाव हुए हैं. 

कोरोना संकट के चलते 15 अगस्त के कार्यक्रम में होंगे ये बड़े बदलाव
फाइल फोटो

नई दिल्ली : कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) की वजह से इस बार 15 अगस्त के स्वतंत्रता दिवस समारोह कार्यक्रम में कई महत्वपूर्ण बदलाव हुए हैं. गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस के मुताबिक सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जा रहा है. आयोजन में सिर्फ 1500 मेहमानों को ही न्योता दिया जाएगा जो कोरोना वारियर्स होंगे. हर साल के मुकाबले इस बार वीवीआइपी (VVIP) गेस्ट लिस्ट काफी छोटी की गयी है.  पहले के आयोजन में जहां करीब  29 हज़ार लोग स्वतंत्रता दिवस के जश्न में शामिल होते थे लेकिन इस बार सिर्फ 5 हज़ार लोगों को समारोह को करीब से देखने का मौका मिलेगा.स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान पिछले साढ़े चार महीनों में भारत के कोरोना वारियर्स ने जिस मजबूती से ये जंग लड़ी है देश उसे याद करेगा. यही वजह है कि आयोजन के दौरान उन्हे ही बतौर अतिथि बुलाया 
 
ज़ी न्यूज़ (Zee News) की टीम ने कोरोना काल में , लाल किले के प्रांगण में चल रही तैयारियों का जायजा लिया. अधिकारिक जानकारी के मुताबिक इस बार के कोरोना संक्रमण के खतरे को दूर करने के लिए स्कूली बच्चों को नहीं बुलाने का फैसला हुआ है. आपको बता दें कि हर साल 15 अगस्त के कार्यक्रम में 10 से 12 हज़ार स्कूल के बच्चे शामिल होते थे, लेकिन इस बार स्कूली बच्चों को नहीं बुलाया गया है. वहीं स्कूली बच्चों के जगह 500 एनसीसी केडेट्स को आमंत्रण भेजा गया है. 

इसके अलावा इस बार केवल जॉइंट सेक्रेटरी लेवल के अधिकारियों तक ही बुलाया गया है. यानी संयुक्त सचिव से नीचे की रैंक के अधिकारी इस बार के 15 अगस्त के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे. समारोह के दौरान मंत्री और सचिव स्तर के करीब 800 अधिकारी ऊपर के रैंप पर बैठते थे, लेकिन इस बार इसमें भी बदलाव हुआ है. समारोह स्थल के पास पार्क में इमरजेंसी कोविड सेंटर बनाए जाएंगे.

दिल्ली हमेशा से आतंकियो के निशाने पर है लिहाजा दिल्ली पुलिस हाई अलर्ट पर है. दिल्ली पुलिस मुताबिक सिर्फ लाल किले के अंदर इस बार 300 से ज्यादा सीसीटीवी (CCTV) कैमरे लगाए है. दिल्ली पुलिस अन्य एजेंसियों के साथ लगातार बैठक करके समारोह की सुरक्षा को अभेद बनाने में जुटी है. लाल किले के आस पास का पूरा इलाका हाई सिक्योरिटी जोन में होगा. वहीं स्वतंत्रता दिवस के जश्न पर पूरी दिल्ली के चप्पे-चप्पे में अचूक सुरक्षा इंतजाम होंगे. इसको लेकर दिल्ली पुलिस का चेकिंग अभियान भी जोर पकड़ चुका है. होटल, हाई राइज बिल्डिंग, बाजार, सड़क हर जगह पुलिस ने चेकिंग अभियान बड़े पैमाने पर चल रहा है. 

बम स्क्वाड और डॉग स्क्वाड के साथ पुलिस ने चेकिंग अभियान शुरू किया है. वहीं दिल्ली में रहने वाले किरायदारों के सत्यापन का काम जोर-शोर से चल रहा है. पहले पुलिस खुद घर घर जाकर  वेरिफिकेशन करती थी , लेकिन इस बार हर इलाके में कैम्प लगा कर वेरिफिकेशन का काम हो रहा है. आने जाने वालों पर पैनी नजर रखा जा रही है और हर संदिग्ध का मास्क हटा कर उसकी पहचान सुनिश्चित की जा रही है.

ये भी देखें-