गलतफहमी में न रहें दाऊद और हाफिज, अपने दुश्मनों का सफाया करने के लिए भारत तैयार: राज्यवर्धन सिंह राठौड़

केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि दाऊद इब्राहिम और लश्कर-ए -तोएबा के प्रमुख हाफिज सईद जैसे भारत के दुश्मनों को यह नहीं सोचना चाहिए कि भारत उनके बारे में सोच नहीं रहा है।

गलतफहमी में न रहें दाऊद और हाफिज, अपने दुश्मनों का सफाया करने के लिए भारत तैयार: राज्यवर्धन सिंह राठौड़

नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि दाऊद इब्राहिम और लश्कर-ए -तोएबा के प्रमुख हाफिज सईद जैसे भारत के दुश्मनों को यह नहीं सोचना चाहिए कि भारत उनके बारे में सोच नहीं रहा है।

राठौड़ से जब यह पूछा गया कि सरकार 1993 के मुम्बई विस्फोटों के मुख्य आरोपी दाऊद इब्राहिम और भारत में अन्य वांछित सईद के बारे में सरकार क्या कर रही है तो उन्होंने कहा कि हम अपने दुश्मनों का सफाया करने हमेशा तैयार रहते हैं। एक न्‍यूज चैनल से बातचीत में उनसे जब यह कहा गया कि दाउद इब्राहिम जैसे भगोड़े और सईद पाकिस्तान में बड़े आराम से रह रहे हैं तो उन्होंने कहा कि भारत का दुश्मन जहां कहीं भी हो, उसे यह नहीं सोचना चाहिए कि भारत उसके बारे में कुछ नहीं सोच रहा है।

उनसे कहा गया कि मोदी सरकार के 15 महीने बीत गए लेकिन पाकिस्तान में शरण लिए भगोड़ों के खिलाफ कुछ नहीं किया गया, बजाय डोजियर तैयार करने के। इस पर उन्होंने जवाब दिया कि साम, दाम, दंड, भेद (सभी तरीकों का उपयोग किया जाएगा)। डोजियर के अलावा अन्य तरीके भी इस्तेमाल किए जाएंगे। जब कभी कुछ होगा, आपको खबर मिल जाएगी। जब उनसे पूछा गया कि क्या गोपनीय अभियान हो सकता है, तो सेना में कर्नल रहे मंत्री ने कहा कि हम ऐसा कर सकते हैं, लेकिन उससे पहले इसका प्रचार नहीं होगा। अभियान के बाद, ऐसा हो सकता है या नहीं हो सकता है। यह इस पर निर्भर करता है कि क्या सरकार कहती है कि यह गोपनीय अभियान है या फिर विशेष अभियान है। उन्होंने कहा कि गोपनीय अभियान कभी पता नहीं चल सकता लेकिन विशेष अभियान के बारे में उसके पूरा होने पर जानकारी दी जा सकती है।

राठौड़ ने कहा कि विशेष अभियान उसके हो जाने पर सार्वजनिक किया जाता है। यह सरकार पर निर्भर करता है कि यह कब किया जाए, कौन जानता है कि यह अभी हो रहा है या नहीं हो रहा है। लेकिन यह हो जाने के बाद ही सार्वजनिक किया जाएगा। (एजेंसी इनपुट के साथ)