कोरोना के खिलाफ जंग में मित्र देशों की मदद कर रहा भारत, मॉरिशस को भेजे मेडिकल इक्विपमेंट

कोरोना के खिलाफ जंग में भारत न सिर्फ अपने पड़ोसियों, बल्कि मित्र देशों को लगातार मेडिकल इक्विपमेंट के साथ-साथ हर तरह की मदद उपलब्ध करा रहा है. 

कोरोना के खिलाफ जंग में मित्र देशों की मदद कर रहा भारत, मॉरिशस को भेजे मेडिकल इक्विपमेंट

नई दिल्ली:  कोरोना के खिलाफ जंग में भारत न सिर्फ अपने पड़ोसियों बल्कि मित्र देशों को लगातार मेडिकल इक्विपमेंट के साथ-साथ हर तरह की मदद उपलब्ध करा रहा है. आईएनएस केसरी के जरिए भारत ने मॉरिशस के अनुरोध पर मदद के रूप में दूसरा कंसाइनमेंट मेडिकल सामग्री भेजी है, जो आज वहा पहुंची. 

इसके पहले भी भारत एयर इंडिया के विशेष विमान से मेडिकल इक्विपमेंट्स और राहत सामग्री मॉरीशस को भेज चुका है.

15 अप्रैल को 13 टन मेडिसिन के साथ एयर इंडिया का विशेष विमान मॉरीशस पहुंचा था जिसको वहां के उप प्रधानमंत्री ने रिसीव किया था इसमें तमाम तरह की मेडिसिन के साथ ही कोरोना के खिलाफ काम आने वाली हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की टेबलेट भी भेजी थी.

भारत और मॉरीशस दोनों गहरे मित्र राष्ट्र हैं और भारतीय प्रधानमंत्री लगातार कोरोना संकट में हर मित्र देश से न सिर्फ बात कर रहे हैं बल्कि जो भी संभव मदद भारत की तरफ से हो सकती है उसको उपलब्ध भी करा रहे हैं.

medical equipment

मेडिकल इक्विपमेंट के अलावा भारत ने विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम भी मॉरीशस भेजी है जो वहां के डॉक्टरों के साथ मिलकर मॉरीशस सरकार को स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर बनाने में मदद करेगी.

बीते साल अक्टूबर में ही भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मॉरीशस में वहां के प्रधानमंत्री के साथ ENT हॉस्पिटल का उद्घाटन किया था जो आज कोरोना के खिलाफ जंग में काम आ रहा है. विदेश मंत्रालय के मुताबिक दोनों देशों के ऐतिहासिक रिश्ते हैं, जो लगातार मजबूत हो रहे हैं.

मॉरीशस के स्वास्थ्य मंत्री कैलाश जगुतपाल ने भारत से भेजी गई मदद सामग्री को रिसीव किया.

medical equipmentइसके पहले आज भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जुगनाथ से टेलीफोन पर बातचीत की.

मिशन सागर के तहत भारत महासागर क्षेत्र में अपने तमाम मित्र राष्ट्रों को मदद पहुंचा रहा है जिसमें तमाम देशों के आपसी रिश्ते पहले से प्रगाढ़ हैं. इसके पहले भारत मेडागास्कर, मालदीव्स, सेशेल्स, कोमोरोस को भी मदद के तौर पर दवाइयां भेज चुका है.