भारत के तिरंगे से डर गया पाकिस्तान! भारत ने कहा- अंतरराष्ट्रीय संधि का उल्लंघन नहीं

भारत-पाक अटारी सीमा पर लगाए गए देश के सबसे ऊंचे तिरंगे से पाकिस्तान डर गया है। उसे शक है कि इससे भारत जासूसी कर सकता है। भारत ने रविवार को ही 360 फीट ऊंचा यह फ्लैग फहाराया है। यह इतना ऊंचा है कि लाहौर से भी दिखेगा। इस फ्लैग का पोल 360 फीट लंबा है, फ्लैग की लंबाई 120 फीट और चौड़ाई 80 फीट है। इस पर 3.5 करोड़ रुपए का खर्च आया है।

भारत के तिरंगे से डर गया पाकिस्तान! भारत ने कहा- अंतरराष्ट्रीय संधि का उल्लंघन नहीं
भारत-पाक अटारी सीमा पर लगाए गए देश के सबसे ऊंचे तिरंगे को लेकर पाकिस्तान ने आपत्ति जताई है।

नई दिल्ली: भारत-पाक अटारी सीमा पर लगाए गए देश के सबसे ऊंचे तिरंगे से पाकिस्तान डर गया है। उसे शक है कि इससे भारत जासूसी कर सकता है। भारत ने रविवार को ही 360 फीट ऊंचा यह फ्लैग फहाराया है। यह इतना ऊंचा है कि लाहौर से भी दिखेगा। इस फ्लैग का पोल 360 फीट लंबा है, फ्लैग की लंबाई 120 फीट और चौड़ाई 80 फीट है। इस पर 3.5 करोड़ रुपए का खर्च आया है।

देश के सबसे ऊंचे तिरंगे से डरा पाकिस्तान

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस फ्लैग ने पाकिस्तान की टेंशन बढ़ा दी है। पाकिस्तान के अधिकारियों ने इसे अंतरराषट्रीय संधि के खिलाफ बताते हुए फ्लैग को बॉर्डर से दूर लगाने को कहा है। दूसरी तरफ भारतीय अधिकारियों का कहना है कि फ्लैग को जीरो लाइन से 200 मीटर पहले लगाया गया है। यह किसी भी तरह से इंटरनेशनल ट्रीटी यानी अंतरराष्ट्रीय संधि के खिलाफ नहीं है। पाकिस्तान  के इस आपत्ति को लेकर पंजाब सरकार के मंत्री अनिल जोशी ने कहा कि हमें अपनी जमीन पर फ्लैग फहराने से कोई नहीं रोक सकता।

गौर हो कि पाकिस्तान से महज कुछ ही दूरी पर स्थित भारत-पाक अटारी सीमा पर 360 फुट उंचे फ्लैगमास्ट का उद्घाटन किया गया। इसे देश का सबसे उंचा फ्लैगमास्ट कहा जा रहा है। पंजाब के मंत्री अनिल जोशी ने इस सबसे उंचे फ्लैगमास्ट पर देश का सबसे बड़ा तिरंगा फहराया। यह पंजाब सरकार के अमृतसर सुधार न्यास प्राधिकरण की परियोजना थी।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

और  पढ़ें: भारत ने अटारी बॉर्डर पर लहराया सबसे ऊंचा तिरंगा, 3.50 करोड़ रुपये का हुआ खर्च

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.