जानिए, भारत ने नागरिकता कानून पर पाकिस्तान में पारित निंदा प्रस्ताव को क्यों बताया 'मजाकिया'

भारत के खिलाफ पाकिस्तान का दुष्प्रचार को लेकर भारत के विदेश मंत्रालय ने कड़ा जवाब दिया है. भारत ने सीधे शब्दों में पाकिस्तान को नसीहत दी है कि झूठ के प्रोपेगेंडा से उसका कोई भला नही होने वाला है.

 जानिए, भारत ने नागरिकता कानून पर पाकिस्तान में पारित निंदा प्रस्ताव को क्यों बताया 'मजाकिया'
पाकिस्तान हर मौके पर दुनिया के समक्ष भारत को बदनाम करने की कोशिश करता है.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारत के खिलाफ पाकिस्तान का दुष्प्रचार को लेकर भारत के विदेश मंत्रालय ने कड़ा जवाब दिया है. भारत ने सीधे शब्दों में पाकिस्तान को नसीहत दी है कि झूठ के प्रोपेगेंडा से उसका कोई भला नही होने वाला है वो कितनी कोशिश कर ले दुनिया अब ये जान चुकी है कि पाकिस्तान आतंकवाद का अड्डा है. पाकिस्तान की संसद की तरफ से भारत के नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पारित निंदा प्रस्ताव पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि ये भारत के आंतरिक मामलें में सीधा सीधा दखल है और हम इस प्रस्ताव को सिरे से खारिज करते है.

प्रस्ताव को एक मजाकिया कदम बताते हुए भारत ने कहा कि वो जम्म कश्मीर और लद्दाख को लेकर आंतकियों के अपने सपोर्ट से दुनिया का ध्यान हटाना चाहता है इसमें पाक कभी कामयाब नही होगा. पाकिस्तान के इलाके में हर दिन अल्पसंख्यकों के साथ क्या हो रहा है हिंदु, सिख, ईसाइयों पर कैसे कैसे अत्याचार हो रहे है वो घटनाएं रोजाना दुनिया के सामने पाकिस्तान की हकीकत बयां करने के लिए काफी है.

पाकिस्तान की वो संसद जिसने खुद ही अलप्संख्यकों के खिलाफ एकतरफा कानून पास कर रखा है वो निंदा प्रस्ताव पास करती है. पाकिस्तान संसद खुद के लिए मजाक की स्थिति पैदा कर रही है उसको दूसरे पर उंगली उठाने की वजाय अपनी तरफ वो करना चाहिए.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि दुनिया जानती है कि भारत सबसे विशाल लोकतंत्र है जहां हर बार लोकतांत्रिक तरीके से लोग वोट करते है और सरकार चुनी जाती है. यहा किसी को बिना किसी धर्म-आस्था के समान अधिकार संविधान के तहत मिले हुए है. पाकिस्तान को भारत से इस मामलें में सीख लेने की जरूरत है.

दरअसल पाकिस्तान ने पहले भारत के खिलाफ दुनिया भऱ में जम्मू कश्मीर से धार 370 हटाने का दुष्प्रचार किया लेकिन उसका ये प्रयास नाकाम रहा उसको मुंह की खानी पड़ी तब भी पाकिस्तान ने कोई सीख नही ली है.

पाकिस्तान हर मौके पर दुनिया के समक्ष भारत को बदनाम करने की कोशिश करता है लेकिन अब दुनिया इस बात को समझ रही है कि पाक किस तरह से सिर्फ और सिर्फ अपने यहा पल रहे आंतकियों को छुपाने और सीमा पार भारत भेजने में लगा रहता है और यही हकीकत वो दुनिया से छुपा रहा है यही वजह है कि फरवरी में एफएटीफ की बैठक से पहले उसे आंतिकयों के खिलाफ कार्रवाई करके दिखानी है नही तो पाकिस्तान ब्लैक लिस्ट में आकर दुनिया के समझ और बेनकाब होगा.