close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Hackathon भी इस बार रचेगा इतिहास, IIT मद्रास में भारत ही नहीं विदेश के बच्चे भी दिखाएंगे अपना टैलेंट

इस हैकाथॉन में भारत और सिंगापुर (Singapore) के करीब 120 छात्र शामिल होंगे. इन छात्रों के 20 ग्रुप (Group) बनाए गए हैं. हर ग्रुप में 6 छात्र होंगे जिनमें 3 भारत (India) के और 3 सिंगापुर के होंगे. 

Hackathon भी इस बार रचेगा इतिहास, IIT मद्रास में भारत ही नहीं विदेश के बच्चे भी दिखाएंगे अपना टैलेंट
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली: देश के छात्रों में नए-नए अविष्कारों (Inventions) को बढ़ावा देने के लिए सरकार पिछले कुछ समय से हैकाथॉन (Hackathon) का आयोजन कर रही है. लेकिन, पहली बार भारत (India) में किसी और देश के छात्रों के साथ मिलकर हैकाथॉन (Hackathon) का आयोजन किया जा रहा है. इस हैकाथॉन का मकसद छात्रों को inovative बनाना है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) 30 सितंबर को सिंगापुर-भारत हैकाथॉन 2019 (Hackathon 2019) प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार देंगे. हैकाथॉन 2 (Hackathon 2) इस बार आईआईटी मद्रास (IIT Madras) में 28 से 29 सितंबर को आयोजित होगी.

आपको बता दें कि इस हैकाथॉन (Hackathon) में 3 अलग-अलग समस्याओं के समाधान निकालने का काम किया जाएगा. स्वास्थ्य (Health), अस्पतालों में कूड़ा प्रबंधन की समस्या और शिक्षा (Education) के क्षेत्र में छात्रों का कंसंट्रेशन को कैसे डवलप किया जाए. इन तीन थीमों पर यह पूरा हैकाथॉन (Hackathon) होगा. इस हैकाथॉन में भारत और सिंगापुर (Singapore) के करीब 120 छात्र शामिल होंगे. इन छात्रों के 20 ग्रुप (Group) बनाए गए हैं. हर ग्रुप में 6 छात्र होंगे जिनमें 3 भारत (India) के और 3 सिंगापुर के होंगे. इसके अलावा हर ग्रुप को गाइड करने के लिए उनके साथ 2 मेंटर (Mentor) भी होंगे.

देखें लाइव टीवी

अवार्ड (Award) जितने वाली टीम (team) को 4 श्रेणी में बांटा गया है. पहली विजेता टीम को 10 हजार डॉलर, दूसरी को 8 हजार डॉलर, तीसरी को 6 हजार और चौथी टीम को 4 हजार डॉलर का पुरस्कार दिया जाएगा. यही नहीं 10 टीमों को सांत्वना पुरस्कार (consolation prize) भी दिया जाएगा. अवार्ड (Award) का खर्च भारत (India) और सिंगापुर (Singapore) सरकार मिलकर उठाएगी.

यहां आपको यह भी बता दें कि आने वाले समय में मानव संसाधन मंत्रालय (Ministry of Human Resources) दुनिया के कई और देशों के साथ मिलकर हर साल इस तरह के हैकाथॉन (Hackathon) के आयोजन करने की योजना पर काम कर रहा है.