Kerala Elections 2021: 'मेट्रो मैन' E Sreedharan बोले- बीजेपी की जीत पर CM पद संभालने को तैयार

श्रीधरन ने कहा, 'केरल में पिछले 20 साल से दो प्रमुख दलों ने शासन किया है. वहां कभी लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) तो कभी यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDF) की सरकारें रही हैं. इस दौरान मुझे नहीं लगता कि केरल में सही मायने में विकास पहुंचा है. लोग अब भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से तंग आ चुके हैं जिसे बीजेपी हटा सकती है'.

Kerala Elections 2021: 'मेट्रो मैन' E Sreedharan बोले- बीजेपी की जीत पर CM पद संभालने को तैयार
ई श्रीधरन फाइल फोटो साभार (PTI)

नई दिल्ली: भारत के मेट्रो मैन के नाम से मशहूर ई श्रीधरन (Metroman E Sreedharan) औपचारिक रूप से भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो चुके हैं. श्रीधरन ने केरल (Kerala) के मलप्पुरम में बीजेपी के एक कार्यक्रम में पार्टी ज्वाइन की. इस आयोजन के दौरान केंद्रीय मंत्री आरके सिंह (Minister R K Singh) मौजूद रहे. इस बीच ई श्रीधरन ने Zee News की डिप्टी एडिटर अदिति त्‍यागी से खास बातचीत में भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की असल वजह बताई है. 

उन्होंने कहा कि केरल के लोग भ्रष्टाचार, घोटालों और भाई-भतीजावाद से तंग आ चुके हैं. ऐसे में भारतीय जनता पार्टी (BJP) इन चीजों को हटा सकती है. श्रीधरन ने कहा, 'केरल में पिछले 20 साल से दो प्रमुख दलों ने शासन किया है. वहां कभी लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) तो कभी यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (UDF) की सरकारें रही हैं. जहां सीपीआई-एम और कांग्रेस ने राज किया. इस दौरान मुझे नहीं लगता कि केरल में सही मायने में विकास पहुंचा है. लोग अब भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद से तंग आ चुके हैं जिसे बीजेपी हटा सकती है'.

बेदाग रही है मेट्रो मैन की छवि 

देश में ‘मेट्रो मैन’ के नाम से मशहूर श्रीधरन ने अपने नेतृत्व में ‘कोंकण रेलवे’ और ‘दिल्ली मेट्रो’ (Delhi Metro) का निर्माण कर भारत के पब्लिक ट्रांसपोर्ट को पूरी तरह बदल कर रख दिया. इसके बाद उनका बनाया मॉडल देश के कई प्रमुख शहरों में अपनाया गया. इस दौरान उनका सम्मान राजनीति से इतर केरल ही नहीं बल्कि देश भर में हुआ.  

ये भी पढ़ें- West Bengal Election: कल TMC जारी कर सकती उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

'विजय यात्रा' में दिए अहम संकेत

श्रीधरन, बीजेपी के केरल प्रदेश प्रमुख के सुरेंद्रन (K Surendran) की अगुवाई में चल रही बीजेपी की विजय यात्रा के दौरान पार्टी में शामिल हुए. बता दें कि श्रीधरन ने 18 फरवरी को ऐलान किया था कि वह भाजपा में शामिल होंगे. 

मुख्यमंत्री पद संभालने को तैयार: श्रीधरन

श्रीधरन ने कहा कि उनका मुख्य लक्ष्य केरल में पार्टी को सत्ता में लाना है और वह मुख्यमंत्री पद संभालने के लिए तैयार रहेंगे. श्रीधरन ने कहा, 'हालांकि अभी तक पार्टी ने उनसे इस विषय में बात नहीं की है, क्योंकि इसके लिए अभी समय है. लेकिन अगर पार्टी उन्हें ये जिम्मेदारी देगी तो वो उसके लिए तैयार रहेंगे.'

गौरतलब है कि श्रीधरन कह चुके हैं कि अगर भाजपा को इस साल अप्रैल-मई में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत मिलती है तो उनका ध्यान बड़े स्तर पर आधारभूत संरचना का विकास करना और राज्य को कर्ज के जाल से निकालने पर होगा. उन्होंने कहा कि अगर उन्हें सीएम पद की जिम्मेदारी मिली तो वो डीएमआरसी की तरह प्रभावशाली तरीके से प्रदेश का संचालन करेंगे. 

2 मई को नतीजे

गौरतलब है कि 140 सदस्यीय केरल विधानसभा के लिए राज्य में 6 अप्रैल को वोटिंग होगी. वहीं चुनाव आयोग (ECI) ने सूबे की नई सरकार के लिए मतगणना की तारीख 2 मई तय की है. 

VIDEO-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.