देवदूत बनकर पहुंचे भारतीय नौसेना के जवान, जहाज पर ही कराया गर्भवती महिला का प्रसव

महिला ने फास्ट इंटरसेप्टर क्राफ्ट में ही बच्चे को जन्म दिया.

देवदूत बनकर पहुंचे भारतीय नौसेना के जवान, जहाज पर ही कराया गर्भवती महिला का प्रसव
(सांकेेतिक तस्वीर)

नई दिल्ली: अंडमान और निकोबार द्वीप समूह (निकोबार द्वीप) के दूरदराज के गांव की रहने वाली एक गर्भवती महिला का भारतीय नौसेना ने आपातकालीन हालत में प्रसव करवाया.

डेरिंग गांव में एक गर्भवती महिला को बुधवार के दिन प्रसव पीड़ा हुई. आसपास अस्पताल न होने की वजह से किसी ने नौसैनिकों को यह सूचना दी. तभी कमोर्टा द्वीप में तैनात आईएनएस करदीप से फास्ट इंटरसेप्ट क्राफ्ट (एफआईसी) ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) के स्टाफ को अपने साथ बैठाया और शाम 4:30 बजे डारिंग गांव पहुंचे.

महिला ने फास्ट इंटरसेप्टर क्राफ्ट में ही बच्चे को जन्म दिया. इसके बाद मां और नवजात को कमोर्टा घाट पर बने एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया. फिलहाल जच्चा और बच्चा दोनों सुरक्षित और सेहतमंद हैं.

समुद्री रास्ते के जरिए डारिंग से कामोर्टा घाट से लगभग 20 किमी की यात्रा के दौरान प्राकृतिक आपातकाल के बीच एफआईसी को संभालकर चलाना काफी जोखिमभरा था.