VIDEO : बच्चों की तस्करी से लड़ने के लिए इंग्लिश चैनल पार करेगी भारत की महिला उद्योगपति

इन 13 घंटों की तैराकी के दौरान लीह को जेलीफिश, जहाजों के टैंकरों और समुद्र से होने वाली तमाम परेशानियों से जूझना होगा.

VIDEO : बच्चों की तस्करी से लड़ने के लिए इंग्लिश चैनल पार करेगी भारत की महिला उद्योगपति
लीह चौधरी इसके लिए पिछले छह महीने से तैयारी कर रही हैं. फोटो : British Asian Trust

लंदन : ब्रिटेन में भारतीय मूल की एक महिला उद्योगपति इंग्लिश चैनल को पार करने की तैयारी में जुटी हैं. ताकि भारत में बाल तस्करी से लड़ने के लिए धन एकत्रित किया जा सके. प्रिंस चार्ल्स द्वारा स्थापित ‘ब्रिटिश एशियन ट्रस्ट’ के लिए राशि एकत्रित करने के लिए लीह चौधरी बुधवार को डॉवर से 35 किलोमीटर तैर कर फ्रांस के कैलिस पहुंचेंगी. चौधरी ‘पॉप अप, पार्टी एंड प्ले’ नामक बाल देखभाल सेवा चलाती हैं.

इन 13 घंटों की तैराकी के दौरान लीह को जेलीफिश, जहाजों के टैंकरों और समुद्र से होने वाली तमाम परेशानियों से जूझना होगा. लीह ने कहा, ‘यह चुनौती स्वीकार करने वाली पहली ब्रिटिश एशियाई महिलाओं में से एक बन कर गर्व महसूस कर रही हूं. इसे अभी तक केवल 1500 लोग पार कर पाए हैं.’

इस दौरान उनके साथ परिवार और उनके दोस्त रहेंगे, लेकिन शर्त के अनुसार, वह इस दौरान किसी से भी मदद नहीं ले सकेंगी. लीह के अनुसार, वह पिछले छह महीने से इसकी ट्रेनिंग ले रही हैं. वह ये चुनौती इसलिए ले रही हैं, ताकि वह ज्यादा से ज्यादा फंड एकत्रित कर ऐसे बच्चों की मदद कर रही हैं, जो ट्रेफिकिंग के जाल में फंस गए. लीह अब तक 35 हजार पाउंड एकत्रित कर चुकी हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, सिर्फ भारत में ही करीब 12 लाख से ज्यादा बच्चे किसी न किसी तरह के शोषण के शिकार हैं. भारत में ब्रिटिश एशियन ट्रस्ट के सहयोगी संगठन प्रेरणा के द्वारा कई थ्री नाइट केंद्र चलाए जा रहे हैं. इसके अलावा चाइल्ड ट्रेफिकिंग से बचाई गई बच्चियों के लिए शेल्टर भी बनाए गए हैं.