भारतीय रेलवे के पास दुनिया का सबसे बड़ा Wi-Fi नेटवर्क, हर स्टेशन पर फ्री इंटरनेट जल्द
X

भारतीय रेलवे के पास दुनिया का सबसे बड़ा Wi-Fi नेटवर्क, हर स्टेशन पर फ्री इंटरनेट जल्द

रेलवे का इरादा हाल्ट स्टेशन को छोड़कर सभी जगह पर वाईफाई की फैसिलिटी उपलब्ध कराने का है.

भारतीय रेलवे के पास दुनिया का सबसे बड़ा Wi-Fi नेटवर्क, हर स्टेशन पर फ्री इंटरनेट जल्द

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे (Indian railways) ने दुनिया का सबसे बड़ा Wi Fi का नेटवर्क खड़ा कर लिया है. आज यानी 7 दिसंबर को महुआ मिलन रेलवे स्टेशन पर वाई फाई की फैसिलिटी शुरू कर दी गई. इसके साथ ही रेलवे 5500 रेलवे स्टेशन पर वाई-फाई की सुविधा देने वाला सबसे बड़ा नेटवर्क बन गया है. महुआ मिलन रेलवे स्टेशन ईस्ट सेंट्रल रेलवे जोन में आता है. भारतीय रेलवे ने अपने सभी रेलवे स्टेशनों को डिजिटल हब बनाने के लिए एक बड़ा अभियान शुरू कर रखा है. रेलवे का उपक्रम रेलटेल (Railtel) इस व्यवस्था को देख रहा है. रेलटेल देशभर के बड़े रेलवे स्टेशन पर वाई-फाई की सुविधा पहले ही शुरू कर चुका है. 

रेलटेल रेल मंत्रालय का एक मिनी रत्न पीएसयू है जो फ्री हाई स्पीड वाईफाई फैसिलिटी देने के लिए काम कर रहा है. देशभर के तमाम रेलवे स्टेशनों पर Wi-Fi की फैसिलिटी उपलब्ध कराने का काम रेलटेल ही कर रहा है. जनवरी 2016 से रेलटेल ने वाई-फाई की सुविधा देना शुरू किया था. सबसे पहले देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से इसकी शुरुआत की गई थी. बीते 40 महीने में रेलवे ने देश के 5500 रेलवे स्टेशन पर रेलटेल के माध्यम से अब वाईफाई की सुविधा उपलब्ध करा दी है. 

हाल्ट स्टेशन को छोड़कर सभी जगह पर वाईफाई की फैसिलिटी उपलब्ध कराने का रेलवे का इरादा है. यह सेवा रेल वायर के नाम से उपलब्ध कराई जा रही है. इस साल में बीते अक्टूबर महीने तक कुल एक करोड़ पचास लाख से ज्यादा यूजर्स ने लॉगिन करके रेल वायर सेवा के जरिए वाईफाई की मुफ्त सुविधा को लिया है और इस सुविधा के जरिए 10242 TB का डाटा खर्च हुआ है. 

भारतीय रेलवे स्टेशनों पर रेलटेल ने दुनिया का सबसे बड़ा वाईफाई नेटवर्क खड़ा करने के लिए दुनिया की कई बड़ी कंपनियों के साथ समन्वय किया है. इसमें गूगल टाटा ट्रस्ट पीजीसीआईएल जैसी कंपनियों को रेलटेल ने साथ में जोड़ा है और इसके लिए फंडिंग डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम यू एस ओ एफ ने भी 200 रेलवे स्टेशनों के लिए फंडिंग की है. बड़ी और छोटी रेलवे स्टेशनों पर रेलवे की वाईफाई की मुफ्त फैसिलिटी भारत के शहरी और ग्रामीण इलाकों के बीच डिजिटल अंतर को दूर कर रहे हैं. डिजिटल सेवा के अंतर को दूर कर रही है. कई रेलवे स्टेशनों पर पैसेंजर खासतौर पर स्टूडेंट्स इस यात्रा इस सेवा का फायदा उठा रहे हैं. अपने वेटिंग टाइम में अपने अपना स्टडी मैटेरियल भी डाउनलोड करते हैं, पढ़ते हैं. वेंडर्स सेवा का यूज कर रहे हैं. अपने पेमेंट ट्रांजैक्शन में, डेली पैसेंजर्स भी स्टेशन पर नई स्किल्स सीख रहे हैं. नेट और फ्री वाईफाई फैसिलिटी मिलने के चलते रेलवे स्टेशनों पर बेहतर कनेक्टिविटी होने का सभी को लाभ मिल रहा है. 

ये भी देखें: 

वाई-फाई युक्त रेलवे स्टेशन पर कोई भी व्यक्ति जिसके पास स्मार्टफोन मौजूद है, वह रेलवे की रेल वायर वाईफाई नेटवर्क के जरिए इससे जुड़ सकता है. इसके लिए उस व्यक्ति को अपने स्मार्टफोन में वाईफाई मोड में जाना होगा और वहां से रेलवायर वाईफाई नेटवर्क सेलेक्ट करना होगा इसके बाद रेल वायर का होम पेज अपने आप ही स्मार्ट फोन में दिखने लगेगा. सिर्फ यूजर्स को इसमें अपना फोन नंबर ही फिल करना होगा इसके बाद यूजर अपने उसी मोबाइल फोन पर एक ओटीपी मैसेज के रूप में पाएगा और इस ओटीपी मैसेज को बॉक्स के अंदर इंटर करना होगा. इसके बाद रेल वायर सेवा के जरिये वाईफाई की फैसिलिटी मिलने लगेगी.

रेल मंत्रालय के मुताबिक डिजिटल भारत की एक बड़ी और मजबूत तस्वीर पेश करने में रेलवे के वाई-फाई युक्त रेलवे स्टेशन बड़ा मददगार साबित होंगे क्योंकि इसके लिए रेलवे ने दुनिया का सबसे बड़ा वाईफाई का नेटवर्क खड़ा कर दिया है. भारत में और रेलवे आने वाले दिनों में हर स्टेशन पर इस सुविधा को उपलब्ध कराने जा रहा है. 

Trending news