close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO : विराट कोहली समेत आठ खिलाड़ी हुए पद्मश्री से सम्मानित

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गुरुवार को भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली, रियो पैरालम्पिक में रजत पदक जीतने वाली दीपा मलिक और भारतीय हॉकी टीम के स्टार गोलकीपर पी. आर. श्रीजेश को राष्ट्रपति भवन में आयोजित सम्मान समारोह में पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया. कोहली, श्रीजेश और दीपा के अलावा पांच अन्य खिलाड़ियों को यह सम्मान प्रदान किया गया.

VIDEO : विराट कोहली समेत आठ खिलाड़ी हुए पद्मश्री से सम्मानित
कोहली समेत 8 खिलाड़ियों को पद्मश्री, पवार और जोशी को पद्म विभूषण (PIC : president of india/facebook)

नई दिल्ली : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गुरुवार को भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली, रियो पैरालम्पिक में रजत पदक जीतने वाली दीपा मलिक और भारतीय हॉकी टीम के स्टार गोलकीपर पी. आर. श्रीजेश को राष्ट्रपति भवन में आयोजित सम्मान समारोह में पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया. कोहली, श्रीजेश और दीपा के अलावा पांच अन्य खिलाड़ियों को यह सम्मान प्रदान किया गया.

बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी, एनसीपी प्रेसिडेंट शरद पवार, सद्गुरु जग्गी वासुदेव को पद्म विभूषण और विराट कोहली, दीपा मलिक समेत देश के 8 खिलाड़ियों को पद्मश्री अवॉर्ड दिए गए. इस मौके पर नरेंद्र मोदी, लालकृष्ण आडवाणी समेत कई नेता और मंत्री मौजूद रहे. बता दें कि इस बार 26 जनवरी के मौके पर 7 हस्तियों को पद्म विभूषण, 7 को पद्म भूषण और 75 को पद्मश्री के लिए चुना गया था. 

विराट ने इस साल बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया और महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास के बाद टीम को दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम बनाया. 

गुरुवार को पद्मश्री पाने वाले अन्य पांच खिलाड़ियों में रियो ओलम्पिक में कांस्य पदक दिलाने वाली महिला पहलवान साक्षी मलिक, पैरालम्पिक खिलाड़ी दीपा मलिक, पैरालम्पिक खिलाड़ी मरियप्पन थांगावेलु, चक्का फेंक खिलाड़ी विकास गौड़ा और भारतीय दृष्टिबाधित क्रिकेट टीम के कप्तान शेखर नाइक शामिल हैं.

इस मौके पर उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह मौजूद थे.

पद्मश्री अवॉर्ड: 75 लोगों में 8 खिलाड़ी

विराट कोहली- महेंद्र सिंह धोनी के बाद टीम इंडिया के तीनों फॉर्मेट के कैप्टन बने विराट कोहली को भी पद्मश्री के लिए चुना गया.

दीपा मलिक- दीपा मलिक का कमर से नीचे का हिस्सा लकवाग्रस्त है. इसके बावजूद उन्होंने कई खेलों में भागीदारी की और पुरस्कार जीते. दीपा पहली भारतीय महिला हैं, जिन्होंने पैरालंपिक गेम्स में सिल्वर मेडल जीत कर भारत का नाम रोशन किया. 

मरियप्पन थंगवेलु : 2016 में रियो पैरालिंपिक्स में हाई जम्प में गोल्ड मेडल जीतने वाले मरियप्पन को पद्मश्री मिला. बचपन में एक हादसे में उनके पैर पर बस चढ़ गई थी. इसके बावजूद उन्होंने हाई जम्प में कैरियर बनाया.

शेखर नायक- ब्लाइंड क्रिकेट टीम के प्लेयर हैं.

आर.पी. श्रीजेश - हॉकी टीम के कप्तान और गोलकीपर हैं. 

विकास गौड़ा- डिस्कस थ्रो के प्लेयर हैं.

पद्म विभूषण: 7 नामों में से 4 राजनीति से

1. शरद पवार: पवार सभी पार्टियों के बीच अपने बेहतर रिश्तों और एग्रीकल्चर सेक्टर पर अपनी पकड़ के लिए जाने जाते हैं. महाराष्ट्र के नेता पवार जब 75 साल के हुए तो उनके जन्मदिन के प्रोग्राम में मोदी-सोनिया-मनमोहन जैसे हर दल के बड़े नेताओं ने शिरकत की थी.

2. मुरली मनोहर जोशी:पद्म विभूषण के लिए चुने गए मुरली मनोहर जोशी संघ से जुड़े रहे हैं और केंद्रीय मंत्री रहे हैं. वे अभी बीजेपी के मार्गदर्शक मंडल में हैं. पिछले लोकसभा चुनाव के वक्त उन्होंने मोदी के लिए बनारस की सीट छोड़ी थी. वे डॉक्टरेट हैं और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में फिजिक्स के टीचर रहे हैं.

3. सद्गुरु जग्गी वासुदेव:वे आध्यात्मिक गुरु और विचारक हैं.

4. के.जे. येसुदास: केरल के मशहूर संगीतकार, फिल्म प्लेबैक सिंगर भी रहे हैं.

5.कर्नाटक के स्पेस साइंटिस्ट उडुपी रामचंद्र राव

6.एमपी के पूर्व सीएम सुंदरलाल पटवा (मरणोपरांत)

7.लोकसभा के पूर्व स्पीकर पीए संगमा (मरणोपरांत)

8. राजस्थान के मोहन वीणा वादक पंडित विश्व मोहन भट्ट 

9. यूपी के संस्कृत प्रोफेसर देवी प्रसाद द्विवेदी

10. महाराष्ट्र के रहने वाले और फादर ऑफ लेप्रोस्कोपिक सर्जरी इन इंडिया कहे जाने वाले डॉ. तेहेमटन इरच उदवादिया

11. गुजरात के आध्यात्मिक गुरु और रिकॉर्ड 304 किताबें लिख चुके श्री रत्न सुंदर महाराज 

12. बिहार के योगगुरु निरंजन नंद सरस्वती

13. कभी मोदी को 'मौत का सौदागर' कह कर स्टेज पर इनवाइट कर चुके सीनियर जर्नलिस्ट और पॉलिटिकल एनालिस्ट चो. रामास्वामी (मरणोपरांत)

14.महाचकरी सिरिनघोर्ण (साहित्य-शिक्षा), थाइलैंड