LAC पर भारत की सामान्य गश्त में डाल रहा है बाधा चीन: विदेश मंत्रालय

 विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारतीय सैनिक सीमा क्षेत्र से भली-भांति परिचित हैं, चीनी सैनिकों ने भारतीय बलों द्वारा की जा रही गश्त में बाधा डाली है. 

LAC पर भारत की सामान्य गश्त में डाल रहा है बाधा चीन: विदेश मंत्रालय
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि हम चीन के साथ लगी सीमा पर शांति बनाए रखने को लेकर प्रतिबद्ध हैं.

नई दिल्ली: भारत ने गुरुवार को कहा कि लद्दाख और सिक्किम में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन भारतीय सैनिकों की सामान्य गश्त में बाधा डाल रहा है. इसके साथ ही भारत ने चीनी क्षेत्र में भारतीय सैनिकों की घुसपैठ के चीन के आरोपों को भी मजबूती से खारिज किया. भारत और चीन के बीच की सीमा रेखा को एलएसी कहा जाता है. 

 

 पिछले कुछ दिनों में और दो सप्ताह पहले ही आमने सामने होने के बावजूद, लद्दाख और उत्तरी सिक्किम के कई क्षेत्रों में भारत और चीन दोनों की तरफ से भारी सैन्य गतिविधियां देखी गई हैं जो तनाव बढ़ने और अपनी-अपनी स्थिति मजबूत करने का स्पष्ट संकेत हैं. विदेश मंत्रालय ने कहा कि सीमा पर भारत की सभी गतिविधियां भारतीय क्षेत्र की ओर ही होती रही हैं और नई दिल्ली ने सीमा प्रबंधन की दिशा में हमेशा अत्यंत जिम्मेदार रवैया अपनाया है. मंत्रालय ने इसके साथ ही कि भारत अपनी संप्रभुता और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है. 

चीन ने मंगलवार को अपने क्षेत्र में भारतीय सेना की घुसपैठ का आरोप लगाया और दावा किया कि यह सिक्किम और लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) की "स्थिति को बदलने का एकतरफा प्रयास है."

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने एक ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि यह चीनी पक्ष था जिसने इन इलाकों में भारत की सामान्य गश्त को हाल में बाधित करने वाली गतिविधियां कीं. श्रीवास्तव ने कहा, "ऐसी कोई बात सच नहीं है कि भारतीय सैनिकों ने पश्चिमी सेक्टर या सिक्किम सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को पार कर कोई गतिविधि की." उन्होंने कहा, "भारतीय सैनिक भारत-चीन सीमा क्षेत्रों में वास्तविक नियंत्रण रेखा के संरेखण से पूरी तरह अवगत हैं और ईमानदारी से इसका पालन करते हैं." 

श्रीवास्तव ने कहा, "भारतीय सैनिक एलएसी को लेकर अवधारणा में भिन्नता की वजह से उत्पन्न हो सकने वाली किसी भी स्थिति के समाधान के लिए विभिन्न द्विपक्षीय प्रबंधों और प्रोटोकॉल में निर्धारित प्रक्रियाओं का कड़ाई से पालन करते हैं." विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि दोनों पक्ष किसी भी तात्कालिक मुद्दे के समाधान के लिए चर्चा करते रहते हैं. उन्होंने कहा, "दोनों पक्षों ने वार्ता के जरिए ऐसी स्थितियों के शांतिपूर्ण समाधान के लिए तंत्र स्थापित किए हैं. दोनों पक्ष किसी तात्कालिक मुद्दे के समाधान के लिए एक-दूसरे के साथ चर्चा करते रहते हैं."

चीन ने लद्दाख सीमा पर बढ़ाई गतिविधियां
इसी बीच ऐसी खबरें आ रही हैं कि चीन ने लद्दाख सीमा (एलएसी) पर अपनी गतिविधियों को बढ़ा दिया है. चीन ने पैंगोग शो झील (Pangong Tso lake) के पास ज्यादा बोट उतार दिए हैं. इसके साथ ही चीन ने यहां पेट्रोलिंग को भी बढ़ा दिया है. चीन पेइचिंग लद्दाख में भारत के निर्माण कार्यों को भी रोकने की कोशिश कर रहा है. बताया जाता है कि चीनी हेलिकॉप्टरों को विवादित सीमा और सिक्किम में सैनिकों के बीच झड़प वाले इलाके के करीब देखा गया था. चीन बीजिंग से लगी सीमा पर काफी आक्रामक होता जा रहा है. जानकारी के मुताबिक, भारतीय सेना की ओर से भी सीमा पर सख्ती और पेट्रोलिंग बढ़ा गई है.  

ये भी देखें: