कोप इंडिया 2018’ में एक-दूसरे से सीख रही हैं भारत और अमेरिकी वायुसेनाएं

भारतीय और अमेरिकी वायुसेनाओं के बीच यह तीसरा कोप इंडिया संयुक्त अभ्यास है.

कोप इंडिया 2018’ में एक-दूसरे से सीख रही हैं भारत और अमेरिकी वायुसेनाएं
तीन दिसंबर को शुरू हुआ यह अभ्यास 14 दिसंबर तक चलेगा. (फोटो साभार - @IAF_MCC)

कलाईकुंडा (पश्चिम बंगाल): भारत और अमेरिका की वायुसेनाओं ने सोमवार को कहा कि अभी चल रहे ‘कोप इंडिया 2018’ अभ्यास के दौरान दोनों पक्ष एक-दूसरे के बेहतरीन तौर-तरीकों को सीख रहे हैं. इस अभ्यास में 33 लड़ाकू विमान हिस्सा ले रहे हैं.

एयर ऑफिसर कमांडिंग एयर कोमोडोर एस. एंटनी ने यहां कहा कि इस अभ्यास में अमेरिकी वायु सेना (यूएसएएफ) के 12 एफ-15 लड़ाकू विमान जबकि भारतीय वायुसेना के 10 सुखोई 30एस, छह जगुआर और पांच मिराज 2000एस हिस्सा ले रहे हैं. 

इनके अलावा, एक एडब्ल्यूएसीएस और आगरा वायुसेना स्टेशन से भारतीय वायुसेना का एक रीफ्यूलर विमान और दोनों वायुसेनाओं के दो-दो सी130 परिवहन विमान भी इस अभ्यास का हिस्सा हैं. अधिकारी ने बताया कि दोनों वायुसेनाएं हवाई रक्षा, हवाई लड़ाई और हमले के अभ्यास भी कर रही हैं. 

एंटनी ने कहा, ‘संयुक्त अभ्यास इसलिए किए जाते हैं ताकि हम आने वाले समय में मिलकर काम कर सकें. दोनों वायुसेनाएं काफी अच्छी हैं. तकनीकी तौर पर देखें तो वे बेहतर हो सकते हैं लेकिन पेशेवर स्तर पर दोनों एक जैसी हैं.’  अमेरिकी वायुसेना के अधिकारी कर्नल डेरिल इन्सले ने कहा कि वे भारतीय वायुसेना से सीखते हैं और भारतीय वायुसेना उनसे सीखती है.  

तीन दिसंबर को शुरू हुआ यह अभ्यास 14 दिसंबर तक चलेगा. भारतीय और अमेरिकी वायुसेनाओं के बीच यह तीसरा कोप इंडिया संयुक्त अभ्यास है. पहला कोप इंडिया संयुक्त अभ्यास 2004 और दूसरा 2005 में हुआ था.