राहुल गांधी ने फिर अलापा नोटबंदी और GST का राग, वित्त मंत्री पर साधा निशाना

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के ‘दैवीय घटना’ (ऐक्ट ऑफ गॉड) वाले बयान को लेकर शुक्रवार को उन पर निशाना साधा. 

राहुल गांधी ने फिर अलापा नोटबंदी और GST का राग, वित्त मंत्री पर साधा निशाना
राहुल गांधी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली.  कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) के ‘दैवीय घटना’ ('Act of God') वाले बयान को लेकर शुक्रवार को उन पर निशाना साधा. राहुल गांधी ने वित्त मंत्री पर आरोप लगाते हुए ट्वीट पर लिखा कि, ‘भारत की अर्थव्यवस्था तीन कार्यों से नष्ट हो गई है. उसमें से 1. डिमोनेटाइजेशन (Demonization), 2. जीएसटी (GST) की धज्जियां उड़ा दीं, 3. लॉकडाउन (Lockdown) विफल और इसके सिवा कुछ भी झूठ है.  

राहुल गांधी ने कहा, ‘नोटबंदी, ‘त्रुटिपूर्ण जीएसटी’ और ‘विफल लॉकडाउन’ के कारण अर्थव्यवस्था तबाह हो गई. उन्होंने वित्त मंत्री के बयान का हवाला देते हुए ट्वीट किया, 'भारत की अर्थव्यस्था तीन कदमों- नोटबंदी, त्रूटिपूर्ण जीएसटी और विफल लॉकडाउन के कारण तबाह हो गई.  इसके अलावा दूसरी बातें झूठ हैं.'

 

गौरतलब है कि, वित्त मंत्री ने बृहस्पतिवार को कहा था कि, अर्थव्यवस्था कोविड-19 महामारी से प्रभावित हुई है, जोकि एक दैवीय घटना है और इससे चालू वित्त वर्ष में इसमें संकुचन आयेगा. चालू वित्त वर्ष में जीएसटी राजस्व प्राप्ति में 2.35 लाख करोड़ रुपये की कमी का अनुमान लगाया गया है.  

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी परिषद की 41वीं बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि, स्पष्ट रूप से जीएसटी क्रियान्वयन के कारण जो क्षतिपूर्ति बनती है, केंद्र उसका भुगतान करेगा.  वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने शुक्रवार को ट्वीट कर राज्य सरकारों से आग्रह किया कि, वे जीएसटी के मुआवजे के मुद्दे पर केंद्र की ओर से दिए गए विकल्प को नकार दें और एक स्वर में राशि की मांग करें.  

गौरतलब है कि, बृहस्पतिवार को जीएसटी परिषद की बैठक में केंद्र ने राज्यों के सामने विकल्प दिया कि, वे मौजूदा वित्त वर्ष में जरूरी राजस्व के लिए कर्ज ले सकते हैं और इसमें केंद्र की तरफ से मदद की जाएगी. इसके साथ ही राहुल गांधी ने NEET-JEE छात्रों के समर्थन में ऑनलाइन कैंपेन शुरू किया है, जिसमें लोगों से जुड़ने की अपील की गई है, ताकी छात्रों की मांगों को सरकार तक पहुंचाया जाएगा.  

ये भी पढ़ें: चीन में इस भारतीय ने बढ़ाया मान, स्टूडेंट्स डॉक्टरी सेवा से पहले लेते हैं इनकी शपथ

राहुल गांधी ने शुक्रवार सुबह ट्वीट किया कि लाखों परेशान छात्रों के साथ अपनी आवाज जोड़िए.  #SpeakUpForStudentSafety आज से.  आइए, सरकार से छात्रों की बात सुनने की मांग करें. आपको बता दें कि बुधवार को गैर-भाजपा शासित सात राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ मिलकर इन परीक्षाओं को टलवाने के पक्ष में अपनी आवाज उठाई थी, उसी दौरान कांग्रेस ने छात्रों का साथ देना का फैसला लिया था.